< Browse > Home /

| Mobile | RSS

  

पहाड़ी गीतः अल्खते बिखौती मेरी दुर्गा हरे गे

गोपाल बाबू गोस्वामी जी की आवाज में सुनिये ये मधुर और प्रसिद्ध कुमाऊँनी गीत। ये गीत एक पति द्वारा अपनी पत्नी दुर्गा के लिये गाया गया है। ये दोनों पति और पत्नी पग डंडियों पर मस्त होकर छेड़ छाड़ करते हुए द्वाराहाट के स्याल्दे बिखौती के मेले में घूमने के लिये जा रहे हैं लेकिन [...]

पहाड़ी गीतः गोरी मुखड़ी सजीली

आज पहली बार एक ऐसा पहाड़ी गीत सुना और दिखा रहे हैं जिसे गाया भी बच्चे ने है और इसमें डांस भी बच्चों ने ही किया है। ये गीत गाया है मास्टर रोहित चौहान ने अपने एलबम “मेरी मॉजी” के लिये, रोहित की आवाज में दम है और ये गीत उनकी आवाज में मधुर ही [...]