< Browse > Home /

| Mobile | RSS

  

पहाड़ी गीतः कैले बाजे मुरूली

अगर आपने शाहिद और करीना कपूर अभिनीत फिल्म का “ये इश्क हाय, बैठे बैठाये ” सुना होगा तो शायद गौर किया हो (या ना किया हो) कि इस गीत के शुरू में एक पहाड़ी धुन बजती है। वो पहाड़ी धुन कॉपी है कुमाँऊ क्षेत्र के मशहूर गायक गोपाल बाबू के गाये सुप्रसिद्ध कुमाँऊनी गीत “कैले [...]

विडियोः नरेन्द्र सिंह नेगी और गिरदा के बीच जुगलबंदी – भाग २

आज मजे लीजिये गीत और कविताओं से सजी नरेन्द्र सिंह नेगी और गिरदा के बीच हुई जुगलबंदी का दूसरा भाग, ये जुगलबंदी उत्तराखंड के इन दो जबरदस्त कलाकारों के बीच विगत दिनों अमेरिका के न्यु जर्सी प्रान्त में हुई थी। इस जुगलबंदी का संचालन कर रहे थे डा. शेखर पाठक जी। जुगलबंदी के पहले भाग [...]

विडियोः नरेन्द्र सिंह नेगी और गिरदा के बीच जुगलबंदी

आज मजे लीजिये इस गीत और कविताओं से सजी इस जुगलबंदी का, ये जुगलबंदी उत्तराखंड के दो जबरदस्त कलाकारों के बीच विगत दिनों अमेरिका के न्यु जर्सी प्रान्त में हुई थी। जी हाँ ये दो कलाकार हैं – नरेन्द्र सिंह नेगी जी और गिरीश तिवारी ‘गिरदा’ के बीच। इस जुगलबंदी का संचालन कर रहे थे [...]

विडियोः उत्तराखंड गाथा और नरेन्द्र सिंह नेगी लाइव – भाग 2

आज पेश है इस कड़ी का दूसरा भाग, अगर आपने ओम पर्वत और कैलाश देखना है तो इस विडियो को जरूर देखिये। एक पर्वत के ऊपर बर्फ से बनता है ओम, इसी से इसका नाम भी पड़ता है ओम पर्वत। उत्तराखंड गाथा अभी अगले भाग में भी जारी रहेगी। भाग १ देखने के लिये यहाँ [...]

विडियोः उत्तराखंड गाथा और नरेन्द्र सिंह नेगी लाइव – भाग १

अभी कुछ दिनों पहले उत्तरांचल एसोशियन आफ नार्थ अमेरिका का ९वाँ अधिवेशन संपन्न हुआ। “उत्तराखंड गाथा और नरेन्द्र सिंह नेगी लाइव” शीर्षक के अंतर्गत अगले कुछ पोस्टों (दिनों) तक इसी अधिवेशन के प्रोग्राम की झलकियाँ पेश की जायेंगी। इस अधिवेशन में पहले आप देखेंगे, डा शेखर पाठक के व्याख्यान – “उत्तराखंड गाथा” और “अपने लोगों [...]

लोकगीतः हाय तेरी रूमाला

आज सुनिये एक बहुत ही प्रसिद्ध कुमाऊंनी लोकगीत, गोपाल बाबू गोस्वामी की आवाज में। कुछ अन्य गीतों की ही तरह इसमें भी नायिका की खुबसूरती की तारीफ की गयी है। गाने की शुरूआत में ही तारीफ करते हुए कहा है कि तेरे इस गुलाबी चेहरे में नाक में लगी नथुली (नाक में पहने जाने वाला [...]

लोकगीतः ठंडो रे ठंडो और ठंडो पानी गीत

वैसे तो ये गीतों की बारी नही थी, लेकिन थोड़ा व्यस्त रहने के कारण जो लेख शुरू किया था वो पूरा नही कर पा रहा हूँ, इसलिये तब तक आप ये दो लोकगीत सुनिये। पहला है “पी जाओ पी जाओ मेर पहाड़ को” गोपाल बाबू गोस्वामीजी की आवाज में (कुमाँउनी बोली में) और दूसरा है [...]

विडियोः बबली तेरो मोबाइल

आज आपको दिखा रहे है सुपरहिट गीत बबली तेरो मोबाइल का विडियो इस गीत पर होने वाली टिप्पणियों के सैकड़ा पार करने की खुशी में । इस गीत के दो वर्जन हैं, पहला वाला तो जो ओरिजिनली फिल्माया गया। दूसरा वाला जो शादी ब्याहों में बैकग्राउंड में बजता है और फोरग्राउंड में शादी में आये [...]

म्यार पहाड़

अगर मेरा गांव मेरा देश हो सकता है तो म्यार पहाड़ क्यों नही? म्यार पहाड़ यानि मेरा पहाड़ लेकिन ऐसा कहने से ये सिर्फ मेरा होकर नही रह जाता ये तो सब का है वैसे ही जैसे मेरा भारत हर भारतवासी का भारत। खैर पहाड़ को आज दो अलग अलग दृष्टि से देखने की कोशिश [...]

लोकगीतः सुरम्याला आंख तेरा घुंघराला बाल

इस बार आपको सुना रहे हैं गढ‌वाली बोली में गाया ये गीत। खुबसूरत बोलों से सुज्जित ये गीत लडकी की तारीफ में गाया हुआ गीत है, ये गीत आडियो एलबम पैलि पैलि प्यार से लिया गया है। शुरू की लाईनें कुछ इस तरह से है – सुरम्याला आंख तेरा घुंघराला बाल गोरी मुखडी जैसी हिरनी [...]

लोकगीतः नौछमी नारेणा

इस बार गीत के साथ साथ विडियो के भी मजे लीजिये, ये गीत शायद उत्तरांचल का अभी तक का सबसे ज्यादा विवादास्पद गीत होगा। गीत गाया है नरेन्द्र सिंह नेगी ने, इसमें उत्तरांचल में बनी सरकारों के कामों में व्यंगात्मक टिप्पणियां की है। शुरूआत होती है बीजेपी की सरकार की बात से कि कैसे उन्होने [...]

लोकगीतः बबली तेरो मोबाईल

इस बार आपको सुना रहे हैं गढ‌वाली बोली में गाया ये गीत। लोकल और आधुनिक संगीत से सुज्जित ये गीत एक छेडछाड का गीत है जिसमें लडका एक बबली नामकी लडकी को फोन करता है। लडकी के फोन पे हँसने पर लडका ये गीत गाने लगता है, जिसके शुरूआती बोल का भावार्थ कुछ इस तरह [...]

  • Page 1 of 2
  • 1
  • 2
  • >