< Browse > Home / Archive by category 'सामान्‍य'

| Mobile | RSS

  

एक बच्चे की मदद के लिये नम्र निवेदन

आज इस ब्लोग के माध्यम से सभी हिन्दी ब्लोगरस और उत्तरांचल के पाठकों से उत्तराखंड के एक बच्चे की मदद के लिये विनम्र अपील करना चाहता हूँ। ये 13 साल का बच्चा मास्टर आलोक उत्तराखंड के एक गाँव से है और इसके दिल में प्रोब्लम है जिसके चलते इसका आपरेशन करना जरूरी है। आपरेशन करने [...]

[ More ] May 7th, 2008 | 9 Comments | Posted in सामान्‍य |

उत्तराखंड वर्षगांठ और शहीदों को श्रद्धांजलि

९ नवम्बर यानि कि उत्तराखंड राज्य के अस्तित्व में आने की वर्षगांठ, इस दिन शायद सारे राज्य में खुशियाँ मनायी जायेंगी। जाहिर सी बात है वर्षगांठ होगी तो जश्न स्वाभाविक है। लेकिन उत्तराखंड में कुछ घर ऐसे भी होंगे जो अपने परिजनों की कमी आज के दिन कुछ ज्यादा महसूस करेंगे। ये वो घर हैं [...]

[ More ] November 7th, 2007 | 7 Comments | Posted in सामान्‍य |

विडियोः नरेन्द्र सिंह नेगी और गिरदा के बीच जुगलबंदी

आज मजे लीजिये इस गीत और कविताओं से सजी इस जुगलबंदी का, ये जुगलबंदी उत्तराखंड के दो जबरदस्त कलाकारों के बीच विगत दिनों अमेरिका के न्यु जर्सी प्रान्त में हुई थी। जी हाँ ये दो कलाकार हैं – नरेन्द्र सिंह नेगी जी और गिरीश तिवारी ‘गिरदा’ के बीच। इस जुगलबंदी का संचालन कर रहे थे [...]

संस्मरणः वह एक मुलाकात

मैने शायद कभी सोचा नही था कि किसी एक दिन म्यार पहाड़ के तीन तीन विशिष्ट व्यक्तियों से एक साथ मिलना होगा। ये तीन व्यक्ति हैं, साल 2007 में पद्म श्री से सम्मानित डा शेखर पाठक; प्रसिद्ध गायक, कवि, संगीतकार नरेन्द्र सिंह नेगी और प्रसिद्ध लोक कलाकार, कवि, गायक, सोशियल एक्टिविस्ट गिरीश तिवारी (गिरदा)। और [...]

लोकगीतः ओ परूआ बोजू

आज हम सुना रहे हैं ये गीत लेकिन दो अलग अलग तरीके से, जी हाँ पहले सुनिये बगैर म्यूजिक के ओरिजनल शेरदा ‘अनपढ’ की आवाज में इस गीत की एक झलक। फिर सुनिये इसी गाने का कमर्शियल या म्यूजिकल वर्जन। शेरदा कुमाऊँ में काफी प्रसिद्ध हैं, उनकी कवितायें और गीत काफी मधुर और सफल रहे [...]

पहाड‌ी शब्दकोशः एक नई शुरूआत

बहुत दिनों से चिट्ठा जगत से गायब रहने की मेहनत रंग लायी और अब अपने उत्तरांचल की बोली सीखने के लिये भी शब्दकोश तैयार हो रहा है। जी हाँ, आज ही एक नयी वेबसाईट का श्री गणेश इसके बीटा संस्करण के साथ किया है। इसका नाम है पहाडी शब्दकोश, ये वास्तव में एक कोशिश है [...]

नाम गुम जायेगा

राज्य बनने से पहले शायद जनता उत्तराखंड के नाम पर ज्यादा सहमत थी, लेकिन नाम मिला उत्तरांचल। अब जब इस नाम की आदत ही नही बल्कि सब जगह इस नाम की इबारत लिखी जा चुकी है सरकार इसका नाम बदल रही है। जी हाँ उत्तरांचल का पुनः नामकरण उत्तराखंड करने पर सहमति हो गई है। [...]

[ More ] August 24th, 2006 | 15 Comments | Posted in सामान्‍य |

जल समाधि एक शहर की

हर व्‍यक्‍ति की जिंदगी में कुछ ना कुछ बातें ऐसी होती हैं जिन्‍हें वो अक्‍सर याद करता रहता है। किसी ना किसी शहर की कोई ना कोई गली ताउम्र याद रहती है क्‍योंकि उसमें कहीं उसका बचपन और बचपन की यादें दफन रहती हैं। और वो शहर तो सभी को याद रहता है जिस शहर [...]

उत्तरांचल

उत्तरांचल यानि देवभूमि, मीलों फैला हिमालय और इस धरती का एक ओर स्‍वर्ग। हर किसी को हर कहीं से लुभाने के लिये लालायित एक रमणीय प्रदेश। स्‍वच्‍छ वायु, निर्मल जल, कँपकँपाती बर्फ, दूर तक फैली हरियाली, विशाल पहाड़, छोटे छोटे गाँव, सीधे-सादे लोग, कड़ी जीवन शैली यही है उत्तरांचल। एक तरफ उत्तरांचल जहाँ प्रकृति प्रेमियों [...]

[ More ] February 18th, 2006 | 7 Comments | Posted in सामान्‍य |