< Browse > Home / कुमाऊँनी संगीत, गीत और संगीत / Blog article: पहाड़ी गीतः स्वर्गतारा जुनली रात

| Mobile | RSS

  

पहाड़ी गीतः स्वर्गतारा जुनली रात

इस गीत के बारे में पहली बार मैंने यहाँ अमेरिका में एक पहाड़ी गेट-टुगेदर में सुना था और वहीं सुना भी जब कुछ लोगों ने मिलकर गाया। अभी इंडिया गया था तो मुझे वहाँ ये गीत मिल गया लेकिन इस गीत से जुड़े कलाकारों का नही मालूम। अगर किसी को मालूम हो तो जरूर बतायें।

खासकर के महिला संगीत में बजने वाले इस गीत के बारे में अगर किसी को कोई जानकारी हो तो वो भी जरूर शेयर करें। जब तक जानकारियाँ आती हैं ये गीत तो सुन ही लेते हैं।

Audio clip: Adobe Flash Player (version 9 or above) is required to play this audio clip. Download the latest version here. You also need to have JavaScript enabled in your browser.

डिस्क्लेमर:उत्तरांचल में पोस्ट होने और बजने वाले गीत सिर्फ कुमाँऊ और गढवाल के संगीत को बढावा देने के लिये विज्ञापन मात्र ही हैं, ये कहीं से भी असली सीडी और कैसेट का विकल्प नही है। पसंद आने पर कृप्या असली कैसेट और सीडी ही खरीदें।

Leave a Reply 14,727 views |
Follow Discussion

26 Responses to “पहाड़ी गीतः स्वर्गतारा जुनली रात”

  1. surender Says:

    namskar
    aap logon ka bahut -2 abhari chu aap ini hi gano sunana ral dhanyabad aapka

  2. bhagwat singh Says:

    paharu ke thando pani. ua nan teen scool jani. bahut bahut bhal lagu.

  3. ghughutibasuti Says:

    बहुत प्यारा गीत । सुनवाने के लिए धन्यवाद।
    घुघूती बासूती

  4. राम दत्त तिवारी-दुबई से Says:

    तरुन जी नमस्कार, गाना बहुत अच्छा लगा, आशा करता हू. भविस्य मे भी इसी प्रकार उत्तरांचलकी अमूल्‍य सस्कृति, कला व गीत-संगीत के बारे मे अवगत कराते रहेंगे…. डाक भेजने हेतु ध्न्यबाद.

  5. Rajen Says:

    बहुत ही कर्णप्रिय है. धन्यबाद.

  6. K.N.Upreti Says:

    ye geet bahut puran hai aur ajkal ke gaano se bahut achaa lagata hai sampurn uttarakhand ke yaad diladeta hai

  7. Uttam singh Sajwan Says:

    that is very old and good song i like it and i like also all pahaari song

  8. M A Sharma Says:

    bahut hi meetha geet ..bachpan se ab tak jitni baar sunu ..meethaas hi ghoolta hai
    Dhanyavaad Tarun ji

  9. Jiten from Dubai Says:

    Tarun Ji
    Namaskar ,

    Ye geet aaj bahut saal k baad aap ki kirpa se suune ko mila.

  10. vishnu Says:

    i think its not sorgha tara its sarka means sky

  11. हेम पन्त Says:

    तरुण जी यह गाना मैने कई जगह ढूंढा, आज आपकी पोस्ट में मिल ही गया….

    यह जोङ के माध्यम से आगे बढने वाला गाना है, अर्थात इसका मुखङा “स्वर्ग तारा…” के साथ अन्तरे के रूप में कोई भी “जोङ” गाकर इस तरह के गानों को आगे बढाया जाता है. यह मुख्यत: सामूहिक गाने होते हैं जिसमें विभिन्न गायक एक-एक जोङ गाते हैं और मुखङे को फिर सभी लोग गाते हैं.

    इसके मुखङे के बोल विरह्पूर्ण और बहुत ही मधुर हैं. जिनका शाब्दिक अर्थ है – जुन्याली (चांदनी) रात में आकाश में तारे चमक रहे हैं. मेरी दिल की बात को कौन सुनेगा?

  12. puran singh belal Says:

    love you my dear friend.you are doing a great job for all uttranchali people.thank you very much
    puran (pintu) belal
    belai(pithoragarh)

  13. pradeep singh rawat Says:

    methe kusi hue it baat jankar ki mhmar uttarnachal ki sanskrithi the bhar videsh me bhi pachanu chai. TARUN JI PLZ CONT ME AT THIS NO 09179964866

  14. P.C.Dabral Says:

    प्रिय तरु ण जी
    मै आपके ब्लाग कन्ट्रोल पैनल पर तो आम तौर पर विजिट करता हू । पर आज पहली बार आपके इस ब्लाग पर विजिट करने का अवसर मिला और मुझे बहुत पसन्द आया । तब मेरे मन मे यह ध्यान आया कि जब मेरे जैसा व्यक्ति आज तक आपके ब्लाग पर नही पहुच पाया तो मेरे जैसे कई उत्तरान्चली बन्धु होगे जो आपके ब्लाग पर पहुचने से वंचित होगे । यही सोच कर मैने एक लिन्क अपने ब्लाग पर दे दिया है जिससे कि कम से कम मेरे ब्लाग पर विजिट करने वाले उत्तरान्चली बन्धुओ को तो आप का ब्लाग विजिट करने का सौभाग्य प्राप्त हो ।
    http://www.readers-cafe.net/uttaranchal/

  15. P.C.Dabral Says:

    प्रिय तरु ण जी
    मै आपके ब्लाग कन्ट्रोल पैनल पर तो आम तौर पर विजिट करता हू । पर आज पहली बार आपके इस ब्लाग पर विजिट करने का अवसर मिला और मुझे बहुत पसन्द आया । तब मेरे मन मे यह ध्यान आया कि जब मेरे जैसा व्यक्ति आज तक आपके ब्लाग पर नही पहुच पाया तो मेरे जैसे कई उत्तरान्चली बन्धु होगे जो आपके ब्लाग पर पहुचने से वंचित होगे । यही सोच कर मैने एक लिन्क अपने ब्लाग पर दे दिया है जिससे कि कम से कम मेरे ब्लाग पर विजिट करने वाले उत्तरान्चली बन्धुओ को तो आप का ब्लाग विजिट करने का सौभाग्य प्राप्त हो ।
    Apna RCM

  16. girish chand khanduri Says:

    that is old is gold and good song thanks & bgrds betalghat

  17. girish chand khanduri Says:

    that is old is gold and good song thanks & bgrds betalghat

  18. dhiresh pant Says:

    BEAUTIFUL SONG PLEASE ARRANGE FOR MORE SONS

  19. dhiresh pant Says:

    IT IS SURPRISIG TO KNOW THAT SOME ONE HAVE GIVEN SAME COMME=NTS AS I DID FOR THE SUPERB SONG BIRDS OFSAME FATHER FLOG TOGETHER IN JUNALI AB SUB SUNAL TERE BATTA
    CHAH DIN HO YA RATA BEST COMPLIMENTS

  20. lalit Says:

    dear sir i hope you like old treditional uttarachali song
    as-chacheri and holi song, please requst detail chacheri and holi song

  21. bhupee Says:

    hi iam bhupendra singh khanayat iam in goa plz uttranchal caLL me soon imiss u very much i miss ranikhet bazaar

  22. ashish negi Says:

    all songs are salected and i wish to download all the songs what can i do for downloading pls…………………………………………………..
    all uttrakhand’s will proud of you thanx

  23. Prashant Kumar 'Kaavyansh' Says:

    यह गीत वास्तव में गढ़वाली लोकगीत है. परन्तु आपके ब्लॉग पर प्रस्तुत गीत के बारे में बताना चाहूंगा कि इसकी मुख्य गायिका हैं “कल्पना चौहान”

    साभार
    हमसफ़र यादों का…….

  24. Lalit Pant Says:

    Hi bro i am bascily from uttranchal our uttanchal is great and heaven i am from kaushani called Switzerland.

  25. Dharamveer Bisht Says:

    mRrk[k.M ds xhr vius ns’k ds xhr lHkh x<+okyh HkkbZ cfguksa dks cgqr vPNs yxrs gSaA eSa mu lHkh xk;dksa dks /kU;okn djrk gwa ftUgksaus viuh xhrksa esa viuh ijEijk dks dk;e j[kk gSA esjh vkus okyh ihM+h xk;dksa ls ,d xqtkfj’k gS fd oks Hkh blh rjg ds xksuksa dks gh viuh Bky cuk;saA /kU;okn mRrjk[k.M

  26. devu rawat Says:

    garhwali gito ki mala ke samne sabhi fhel ha
    me den bhar enhi geeto ko gun gunata ho

बड़ी देर कर दी, मेहरबाँ आते-आते

टिप्पणियों का शटर कुछ दिनों ही खुला रहता है। असुविधा के लिये हम से भूल हो रही है हमका माफी देयीदो, अच्छा कहो, चाहे बुरा कहो....हमको सब कबूल, हमका माफी देयीदो।