< Browse > Home / Archive: July 2007

| Mobile | RSS

  

पद्मश्री डा. शेखर पाठक, नरेन्द्र सिंह नेगी और गिरदा से विशेष बातचीत

उत्तरांचल एसोशियन आफ नार्थ अमेरिका की स्थापना के दस वर्ष होने पर विशेष रूप से आयोजित इस सालाना अधिवेशन में, यहाँ अमेरिका में भाग लेने आये पद्मश्री से सम्मानित डा शेखर पाठक, प्रसिद्ध लोक गायक नरेन्द्र सिंह नेगी और गिरीश तिवारी (गिरदा) से न्यू जर्सी के लोकल और हिन्दी रेडियो स्टेशन पर जानेमाने रेडियो जॉकी [...]

लोकगीतः हाय तेरी रूमाला

आज सुनिये एक बहुत ही प्रसिद्ध कुमाऊंनी लोकगीत, गोपाल बाबू गोस्वामी की आवाज में। कुछ अन्य गीतों की ही तरह इसमें भी नायिका की खुबसूरती की तारीफ की गयी है। गाने की शुरूआत में ही तारीफ करते हुए कहा है कि तेरे इस गुलाबी चेहरे में नाक में लगी नथुली (नाक में पहने जाने वाला [...]

ट्रैकिंगः पिंडारी, सुन्दरढूंगा और कफनी ग्लेशियर

किसी शायर ने बहुत पहले कहा था, ‘सैर कर दुनिया की गाफिल, जिन्दगानी फिर कहाँ’। लेकिन क्या आपने कभी सोचा है कि बजाय बस, कार या हवाई जहाज के अपनी ग्यारह नंबर की गाड‌ी से खूबसुरत नजारों के मजे लूटें जायें। नजारे भी ऐसे कि देखते ही मन कहे काश वक्त यहीं थम जाये। अगर [...]

Valley of Flowers | फूलों की घाटी

उत्तरांचल, जहाँ एक तरफ बर्फ से ढकी ऊँची ऊँची चोटियां हैं वहीं दूसरी तरफ खुबसूरत वादियां, एक तरफ हैं सीढ़ीनुमा हरियाली समेटे खेत दूसरी तरफ गहरी गहरी घाटियां। लेकिन इन गहरी गहरी घाटियों के साथ एक ऐसी घाटी भी है जो अपने दामन में तरह तरह के फूलों को समेटे हुए है। ये घाटी फूलों [...]