< Browse > Home / कुमाऊँ, त्‍यौहार / Blog article: होली मुबारक साथ में जानिये कुमाऊंनी होली

| Mobile | RSS

  

होली मुबारक साथ में जानिये कुमाऊंनी होली

उत्तरांचल पढने वाले सभी पाठकों को होली की बहुत बहुत शुभकामनायें और उन सभी उत्तरांचली बंधुओं को बहुत बहुत धन्यवाद जिन्होंने टिप्पणी के द्वारा होली की शुभकामनायें सभी के लिये दीं। आप सब की ये होली रंगों भरी और मस्ती भरी रहे। पिछली होली में मैंने एक आलेख कुमाउंनी होली के ऊपर लिखा था अगर आप उसे पढना चाहते हैं तो नीचे लिंक पर क्लिक कीजिये –

कुमांऊनी होली – संगीत और रंगों का त्‍यौहार | English version

जब हम छोटे थे तो पहाडों में होली बडे ही उत्साह से मनाते थे, हमारी होली लगभग एक हफ्ते पहले शुरू हो जाती थी, दिन के वक्त महिलाओं की बैठकी होली और रात को आदमियों की खडी होली। जिसमें हम चीर (होली की चीर, एक वृक्ष) के चारों ओर नाचते हुए पहले बहुत सारे गीत गाते और फिर भोजन, ये सब चलता रहता होलिका दहन तक। वैसे मैं बता दूँ हर दिन गाने वाले गाने अलग अलग होते थे, मुझे सारे तो याद नही लेकिन दो गानों की पहली पहली लाईने याद हैं। पहले वो पढिये साथ आप में से किसी को पता हो और फिर उसके बाद हिन्दी फिल्मों के होली के गीत के मजे लीजिये।

१. झनकारो, झनकारो, झनकारो, गोरी प्यारो लगो तेरो झनकारो
२. बलमा घर आयो, फागुन में, बलमा घर आयो फाहुन में

अब कुछ मेरी पसंद के होली के गीत आपकी खिदमत पेश हैं, शुरूआत करेंगे मन्ना दा की मदमस्त आवाज से फिर धीरे धीरे बढेंगे पुराने गानों से नये गानों की ओर।

(प्ले के साईन पर डबल क्लिक कीजिये)  

होली रे होली

Audio clip: Adobe Flash Player (version 9 or above) is required to play this audio clip. Download the latest version here. You also need to have JavaScript enabled in your browser.

होली आयी होली

Audio clip: Adobe Flash Player (version 9 or above) is required to play this audio clip. Download the latest version here. You also need to have JavaScript enabled in your browser.

मारो भर भर के पिचकारी

Audio clip: Adobe Flash Player (version 9 or above) is required to play this audio clip. Download the latest version here. You also need to have JavaScript enabled in your browser.

होली के दिन

Audio clip: Adobe Flash Player (version 9 or above) is required to play this audio clip. Download the latest version here. You also need to have JavaScript enabled in your browser.

होली खेले रघुवीरा

Audio clip: Adobe Flash Player (version 9 or above) is required to play this audio clip. Download the latest version here. You also need to have JavaScript enabled in your browser.

कोई भीगा है रंग से

Audio clip: Adobe Flash Player (version 9 or above) is required to play this audio clip. Download the latest version here. You also need to have JavaScript enabled in your browser.

देखो आयी होली

Audio clip: Adobe Flash Player (version 9 or above) is required to play this audio clip. Download the latest version here. You also need to have JavaScript enabled in your browser.

अब मजा लीजिये होली के दो ऐसे गीतों का जो शायद बहुत ही कम बजते हों, पुराने गीत हैं सबको पसंद आने की गारंटी हमारी तो कतई नही है लेकिन गाने मधुर हैं।

आई आई रे होली

Audio clip: Adobe Flash Player (version 9 or above) is required to play this audio clip. Download the latest version here. You also need to have JavaScript enabled in your browser.

चुनर मोरी कोरी

Audio clip: Adobe Flash Player (version 9 or above) is required to play this audio clip. Download the latest version here. You also need to have JavaScript enabled in your browser.

और अब होली का ये गीत बिल्कुल ही अलग अंदाज में कैलाश खेर की सूफियाना आवाज में, बहुत ही मस्त गीत है

ऐ गोरी ऐ गोरी:

Audio clip: Adobe Flash Player (version 9 or above) is required to play this audio clip. Download the latest version here. You also need to have JavaScript enabled in your browser.

होली हो, रंग हो, मस्ती का माहौल हो और ये गीत ना बजे ऐसा हो सकता है क्या भला, कम से कम हमने तो ऐसा ही देखा है।

Audio clip: Adobe Flash Player (version 9 or above) is required to play this audio clip. Download the latest version here. You also need to have JavaScript enabled in your browser.

डिस्क्लेमर:होली के ये गीत सिर्फ होली का माहौल बनाने के लिये हैं, ये कहीं से भी असली सीडी और कैसेट का विकल्प नही है। पसंद आने पर कृप्या असली कैसेट और सीडी ही खरीदें।

Leave a Reply 10,692 views |
Follow Discussion

12 Responses to “होली मुबारक साथ में जानिये कुमाऊंनी होली”

  1. SHUAIB Says:

    आप को भी होली की शुभकामनाएं

  2. श्रीश बेंजवाल 'ई-पंडित' Says:

    होली मुबारक आपको भी। इतने सारे गीत देखकर पहले मैंने समझा कि उत्तरांचली हैं। :)

  3. पूनम Says:

    होली गीतों की इस पेशकश के लिये धन्तवाद .आपको होली की शुभकामनाएं तरुण.

  4. http://ghughutibasuti.blogspot.com Says:

    होली की शुभकामनाएँ ।
    मुझे कई दिन से यह गीत याद आ रहा है
    मेरो कुर्तो रंगीलो कुर्तो वालो रंगीलो
    ………………..मोहनी…. वालो
    मेरे मन ले रंगीलो ।
    किसी को इसके बोल पता हैं ?
    घुघूती बासूती

  5. समीर लाल Says:

    होली की बहुत बहुत मुबारकबाद!! :)

  6. divyabh Says:

    तरुण भाई,
    होली की ढेरों शुभकामनाएँ…।लगे जब गालों पर हरा गुलाल
    अपने जगह की फैली हरियाली को अंदर ही अंदर झांक पायें…

  7. SV Says:

    Happy Holi to all.

  8. jag Says:

    [p0ui

  9. Rajnish Says:

    Thanks for the nice site. I am sorry but I do not know how to type in hindi nor have any fonts.

    Could you please change the fonts in your site to be a bit more readable. something new perhaps ?
    Thanks

  10. Harish Chandra Bhatt Says:

    All uttrakhand ko meri tarfe say Happy holi

  11. guddu darmola Says:

    sir uttaranchal ke bahut hi purane or lokpriy gaane upload kar aap hamae pahad ki garima ko baye huye hein. iske liye bahut bahut shukriya. kyonki aaj ke jamane mein garhwali folk jaise jhalak dikhlaja jaise gaane banane lage hein eise mein kalpnik purane gaane sunkar dil ko sukun milta hai. sir ek gaana hai wo maine banglore mein preetam bhartwan ji ke ek programme mein suna tha. kumaoni song hai (shayad) in aankhyon roi roi ren. please upload this song

Trackbacks

  1. DesiPundit » Archives » होली कब है, कब है होली  

बड़ी देर कर दी, मेहरबाँ आते-आते

टिप्पणियों का शटर कुछ दिनों ही खुला रहता है। असुविधा के लिये हम से भूल हो रही है हमका माफी देयीदो, अच्छा कहो, चाहे बुरा कहो....हमको सब कबूल, हमका माफी देयीदो।