< Browse > Home / Archive: February 2007

| Mobile | RSS

  

लोकगीतः घुघुती घुरोण लगी

इस बार आपको सुना रहे हैं गढ‌वाली बोली में नरेन्द्र सिंह नेगी द्वारा गाया ये प्रसिद्ध गीत। जिसमें कि गायक घुघुती नाम की चिडिया की आवाज को सुन के, अपने मैत यानि कि मायका (घर) की याद को ताजा कर रहा है। शुरूआत के बोलों के भाव कुछ इस तरह से है कि मेरे घर [...]

लोकगीतः ओ परूआ बोजू

आज हम सुना रहे हैं ये गीत लेकिन दो अलग अलग तरीके से, जी हाँ पहले सुनिये बगैर म्यूजिक के ओरिजनल शेरदा ‘अनपढ’ की आवाज में इस गीत की एक झलक। फिर सुनिये इसी गाने का कमर्शियल या म्यूजिकल वर्जन। शेरदा कुमाऊँ में काफी प्रसिद्ध हैं, उनकी कवितायें और गीत काफी मधुर और सफल रहे [...]