< Browse > Home / व्यक्तिव / Blog article: उत्तरांचल के ये चार पद्म श्री-२००७

| Mobile | RSS

  

उत्तरांचल के ये चार पद्म श्री-२००७

January 26th, 2007 | 6 Comments | Posted in व्यक्तिव

वैसे तो हर साल अलग अलग लोगों को उनके विशिष्ट कार्यों के कारण ये अवार्ड दिया जाता है, इस साल भी दिया गया लेकिन इस बार इसमें उत्तरांचल के भी चार नाम शामिल थे। ये हैं – स्वर्गीय प्रोफेसर देविन्द्र राहिनवाल को उनके समाज कार्यों के लिये (यह इनको मरणोपरांत दिया गया), श्री खालिद जहीर को उनके समाज कार्यों के लिये, डा ललित पांडे पर्यावरण संरक्षण (इनवायरंमेंट प्रोटेक्शन) के लिये किये गये उनके प्रयासों के लिये और प्रोफेसर (डाक्टर) शेखर पाठक को साहित्य और शिक्षा के लिये दिये गये उनके योगदान के लिये। पूरी सूची आप यहाँ देख सकते हैं

इनमें से देविन्द्र राहिनवाल और खालिद जहीर, इनके बारे में मुझे ज्यादा कुछ मालूम नही है और ना ही इंटरनेट पर मिला। ललित पांडे उत्तराखंड सेवा निधि पर्यावरण शिक्षा संस्थान के डायरेक्टर हैं और ये संस्था उत्तरांचल के विकास के लिये काफी सक्रिय है। शेखर पाठक तो अपने आप में ही हिमालय का चलता फिरता विश्वकोश हैं, एक घुमक्कड जिसने पहाड का चप्पा चप्पा शायद पैदल ही छाना हुआ है। नैनिताल के रहने वाले लेकिन नैनिताल में कभी कभी दिखने वाले पाठक जी पहाड नाम की पत्रिका भी काफी सालों से अकेले निकालते आ रहे हैं।

इन सभी को उत्तरांचल और उत्तरांचल वासियों की तरफ से बहुत बहुत शुभकामनायें साथ ही साथ २००७ के समस्त पद्म अवार्ड विजेताओं को बहुत बहुत बधाई।

Leave a Reply 3,167 views |
  • No Related Post
Follow Discussion

6 Responses to “उत्तरांचल के ये चार पद्म श्री-२००७”

  1. divyabh Says:

    A Really Very Beautiful State of India…!लगता है मुझे अच्छी जानकारी मिल सकती है यहाँ पर…गणतंत्र दिवस पर आपको भी ढेरों शुभकामनाएँ!

  2. श्रीश बेंजवाल 'ई-पंडित' Says:

    इनमें शेखर पाठक वही हैं क्या जो नंदा देवी राजजात की सीडी में अंत में दिखाई देते हैं। उपरोक्त लोगों के बारे में जानता तो नहीं लेकिन अवश्य ये सब इन पुरुस्कारों के योग्य होंगे।

  3. सृजन शिल्पी Says:

    उत्तरांचल की इन विभूतियों को बधाई!

    तरुण जी, क्या आपसे जीमेल पर गपशप हो सकेगी?

  4. Hem Pant Says:

    Let me add one more name- Mr. Kharak Singh Waldiya was also awarded Padmshree this year. He is a well known Geologist hails from Uttarakhand…

  5. bhuwan phulara Says:

    mra maanana hai ki agli baar yeh sh mohan kandpal ji ko bhi milega.
    nhuwan

  6. urmila dobhal Says:

    Tarun ji sabse pehle to apko mubaraq bad ki apne is tareh se hum sab pahariya ko jodne ka jo kam kiya hai wo bahut sarahniy hai jiske liye mai apki tahe dil se sukr gujar hu.Mai is waqt india se kafi dur hu par apki is side me visit karne ke bad apne apko garhwal me hi mehsus kar rahi hu.kripya ap is tareh se or nayi nayi jankari se bhi hame avgat karaiyega.thanks

बड़ी देर कर दी, मेहरबाँ आते-आते

टिप्पणियों का शटर कुछ दिनों ही खुला रहता है। असुविधा के लिये हम से भूल हो रही है हमका माफी देयीदो, अच्छा कहो, चाहे बुरा कहो....हमको सब कबूल, हमका माफी देयीदो।