< Browse > Home / Archive: January 2007

| Mobile | RSS

  

उत्तरांचल के ये चार पद्म श्री-२००७

वैसे तो हर साल अलग अलग लोगों को उनके विशिष्ट कार्यों के कारण ये अवार्ड दिया जाता है, इस साल भी दिया गया लेकिन इस बार इसमें उत्तरांचल के भी चार नाम शामिल थे। ये हैं – स्वर्गीय प्रोफेसर देविन्द्र राहिनवाल को उनके समाज कार्यों के लिये (यह इनको मरणोपरांत दिया गया), श्री खालिद जहीर [...]

[ More ] January 26th, 2007 | 6 Comments | Posted in व्यक्तिव |

लोकगीतः नौछमी नारेणा

इस बार गीत के साथ साथ विडियो के भी मजे लीजिये, ये गीत शायद उत्तरांचल का अभी तक का सबसे ज्यादा विवादास्पद गीत होगा। गीत गाया है नरेन्द्र सिंह नेगी ने, इसमें उत्तरांचल में बनी सरकारों के कामों में व्यंगात्मक टिप्पणियां की है। शुरूआत होती है बीजेपी की सरकार की बात से कि कैसे उन्होने [...]

लोकगीतः बबली तेरो मोबाईल

इस बार आपको सुना रहे हैं गढ‌वाली बोली में गाया ये गीत। लोकल और आधुनिक संगीत से सुज्जित ये गीत एक छेडछाड का गीत है जिसमें लडका एक बबली नामकी लडकी को फोन करता है। लडकी के फोन पे हँसने पर लडका ये गीत गाने लगता है, जिसके शुरूआती बोल का भावार्थ कुछ इस तरह [...]