< Browse > Home / संस्कृति, सामान्‍य, साहित्य / Blog article: पहाड‌ी शब्दकोशः एक नई शुरूआत

| Mobile | RSS

  

पहाड‌ी शब्दकोशः एक नई शुरूआत

बहुत दिनों से चिट्ठा जगत से गायब रहने की मेहनत रंग लायी और अब अपने उत्तरांचल की बोली सीखने के लिये भी शब्दकोश तैयार हो रहा है। जी हाँ, आज ही एक नयी वेबसाईट का श्री गणेश इसके बीटा संस्करण के साथ किया है। इसका नाम है पहाडी शब्दकोश, ये वास्तव में एक कोशिश है अपने पहाडी भाषा (बोली) के शब्दों के हिन्दी और अंग्रेजी में अनुवाद उपलब्ध कराने की।

Leave a Reply 4,793 views |
Follow Discussion

18 Responses to “पहाड‌ी शब्दकोशः एक नई शुरूआत”

  1. श्रीश । ई-पंडित Says:

    भौत सुंदर, तरुण भेजी ! पहाड़े संस्कृति कु प्रचार-प्रसार कनो यू बड़िया विचार च। मैंसे जू सहयोग ह्वे सकलु कल्लू।

  2. श्रीश । ई-पंडित Says:

    आपने वहाँ लिखा है:

    By default, you will be contributing as a Guest and if you want to contribute by your name then you must be a registered user.

    मैंने पूरी साइट छान मारी लेकिन कहीं भी रजिस्ट्रेशन हेतु लिंक नहीं दिया है। कृपया रजिस्ट्रेशन के बारे जानकारी दें ताकि मैं अपने जोड़े शब्दों का हिसाब रख सकूं।

  3. bhargav Says:

    i am reading by your sites

  4. khim Singh Rawat Says:

    pailag

    achhi cheej ko achha hi kahaa jayega

    dhanybad

    khim s rawat

  5. ninju Says:

    sir ,
    aapku prayas bahut hi achhu lag ek koshish our kero ki apunu uttrakhand KI BETI-BWARUENKI beerta ki sankshipt janikari bhi gyawa our wakhaku pahanawa OUR BAAL MITHAI, BHATT GAHATHUK, DAAL KHUTRA(SANJEEWANIBOOTI JO BASAT MAI HOTE HAI), BARIM BHI BATAWA BADI KRIPA HWELI

    ((SADHANYAWAD))

  6. अरविंद कुमार Says:

    पहाड़ी शब्दकोश की योजना के लिए बधाई. मैं भी एक पहाजड़ी शब्दकोश की योजना से जुड़ा हूँ। मेरा नाम है अरविंद कुमार। मैं समांतर कोश हिंदी थिसारस का रटेता हूँ। आजकल केदंर्हीय हिंदी संस्थान, आगरा, 48 लोकभाषाओं के कोश बनाने में जुटा है। मैं उस परियोजना का अवैतिनक प्रथान संपादक हूँ। पहाड़ी भाषा के साथ साथ हिमालय क्षेत्र की अन्य भाषाओं के कोश भी बनाए जाएँगे। इस के लिए हम लोग क्षेत्र में कोशकर्मियों को भेजेंगे। मुझे उन लोगों के नाम पते भिजवाइए जो हमारा मार्ग दर्शन कर सकें। मेल का पता है

    samantarkosh@gomail.com

    साभार

    अरविंद

  7. अरविंद कुमार Says:

    पहाड़ी शब्दकोश की योजना के लिए बधाई. मैं भी एक पहाड़ी शब्दकोश योजना से जुड़ा हूँ। मेरा नाम है अरविंद कुमार। मैं समांतर कोश हिंदी थिसारस का रचेता हूँ। आजकल केद्रीय हिंदी संस्थान, आगरा,के लिए हिंद0ी की 48 लोकभाषाओं के कोश बनाने में जुटा है। मैं उस परियोजना का अवैतिनक प्रथान संपादक हूँ। पहाड़ी भाषा के साथ साथ हिमालय क्षेत्र की अन्य भाषाओं के कोश भी बनाए जाएँगे। इस के लिए हम लोग क्षेत्र में कोशकर्मियों को भेजेंगे। मुझे उन लोगों के नाम पते भिजवाइए जो हमारा मार्ग दर्शन कर सकें। मेल का पता ह
    samantarkosh@gmail.com

  8. Sangeeta Verma Says:

    I want the words of the Garhwali folk song:
    Kahin seela pakhon ritu , kahin taila gham ;
    ai….. deshe, beti na byohni.

    Can somebody please provide

  9. ARVIND Says:

    i want to know about tehri garhwal

  10. sandeep singh tariyal Says:

    मेटे गढ़वाली गीत बहुत अच्छे लग्दन मी पौडी गढ़वाल कु रहन वालू छु मेरु गाओं कु नाम कोटा च पट्टी बनेल्स्युं च पोस्ट ऑफिस सिल्सू च जिला पौडी गढ़वाल च मेरु नाम विक्की तरियाल च
    my email id is tariyal_143@yahoo.co.in
    mere ko har garhwali gane ke satth satth pura garhwal bhi bhut ache lagte hain

  11. devendra kandwal Says:

    hi,
    meethe bhi uttranchli geet bhall lagda,
    shyam bagat jab thaki hari jandu tab me ek geet jaroor sundu,man the badi shanti mildi.

  12. Mahendra Rawat Says:

    meethe bhalu lag ki ek garhwali webside taiyar hoonuch. yese garhwal ki sasnkrit badhli.

  13. suresh maindola Says:

    आदरणीय श्रीमान,
    मेरी उम्र ६० वर्ष है और पिछले ३० वर्षों से बाहर रह रहा हूँ आपके द्वारा इस वेबसाइट के जरिये किया गया प्रयास बहुत सराहनीय है| हम सभी इसकी प्रशंशा करते है साथ ही एक सुझाव भी देना चाहते है की इस वेबसाइट पर रजिस्ट्रेशन (विवाह से सम्बहंधित ) करवाने की सुविधा भी दी जाए ताकि पूरे भारत और विदेश मे रह रहे उत्तरांचल के लोग उससे फायदा उठा सकें
    धन्यवाद

  14. KRISHANAND SHARMA Says:

    THANKU

  15. KRISHANAND SHARMA Says:

    आदरणीय भाई साहिब हमे आपका यह प्रयास बहुत पसंद आया सभी उतराखंडी आपके बहुत आभारी है

  16. rajendra Says:

    hi
    all namaskar bhuat acha laga ghughuti site dhekh kar ,

  17. kaushlendra prapanna Says:

    eak achi par minath bhara kaam hai kosh taiyar karna..yani uttarnanchal me eak aur bhagirath prayas kiya ja raha hai.. jo log eas kaam me lage hain vo nishchye hi bahdhi ke kabil hain.
    main journalism se juda hun. agar meri kise bhi tarah ki madad ki zurarat mahasus ho to sampark karsakte hain.
    k.prapanna@gmail.com

  18. mahesh kumar Says:

    hi kasai ho

बड़ी देर कर दी, मेहरबाँ आते-आते

टिप्पणियों का शटर कुछ दिनों ही खुला रहता है। असुविधा के लिये हम से भूल हो रही है हमका माफी देयीदो, अच्छा कहो, चाहे बुरा कहो....हमको सब कबूल, हमका माफी देयीदो।