< Browse > Home /

| Mobile | RSS

चल मेरे साथ ही चल, ऐ मेरी जाने गजल

कबाड़खाने के अशोक दाज्यू ने जब हुसैन भाईयों को सुनाया तो हमारा खोया प्यार जैसे हमें दोबारा मिल गया। इससे पहले आप इधर-उधर की सोचें हम बता दें कि हम संगीत की बात कर रहे हैं। इसलिये आज उन्हीं के पहले ऐलबम की एक खुबसूरत गजल “चल मेरे साथ ही चल, ऐ मेरी जाने गजल” [...]

[ More ] June 25th, 2008 | 10 Comments | Posted in गीत संगीत |

पुरानी जींस और गिटार

एक खुबसूरत मोहतरमा को उनकी खुबसूरत तस्वीर में जब जींस पहने और हाथ में गिटार लिये देखा तो हमें भी अपनी वो जींस याद आ गयी जो लेने के बाद हमने कभी नही पहनी और वो वैसे ही रखे रखे पुरानी हो गयी। साथ में याद आया वो गिटार जो लिया तो हमने अपने सीखने [...]

[ More ] June 19th, 2008 | 12 Comments | Posted in गीत संगीत |

…इसी के साथ टिप्पणियों का पहला सैकड़ा

आज बहुत दिनों बात चिट्ठाजगत में आना हुआ तो पाया कि अपने बबली तेरो मोबाइल पोस्ट में टिप्पणियों की संख्या 100 पार कर गयी है (इस पोस्ट के लिखे जाने तक 105 टिप्पणियां)। अपना ये पहला सैकड़ा है इसलिये सोचा चलो सबके साथ बांटा जाय। इस सैकड़े की दूसरी विशेष बात ये है कि इन [...]

[ More ] May 26th, 2007 | 7 Comments | Posted in खालीपीली |

प्रीटी वूमेन

प्रतीक तो समय नष्ट करने के साधन पेश करते ही रहते हैं, इस बार हमने सोचा क्यों ना हम भी ऐसा करके देखें लेकिन बिल्कुल निठल्ले चिंतन के अंदाज में। तो साहेबान आईये बालीवुड और हालीवुड दोनों जगहों की अदाकाराओं को एक नये अंदाज में देखिये।