< Browse > Home /

| Mobile | RSS

सराय पे उठे सवाल पर उठते ये सवाल

सराय के बारे में सबसे पहले मैने नीलिमा की किसी एक शुरूआती पोस्ट में पढ़ा था जो जिसमें बताया था सराय रिसर्च करवाती थी और कुछ पैसे भी देती थी। उसके बाद कुछ दिनों पहले अविनाश ने जब सराय में किसी ब्लोगरस भेंटवार्ता के संबन्ध में लिखा था तब शायद दूसरी बार सुना लेकिन तब [...]

काश हम या हमारे कोई मित्र मीडिया में होते

कभी कभी ये मेरे दिल में ख्याल आता है कि काश हम या हमारे कोई मित्र मीडिया में होते। लाल रंग देखते ही जिस तरह किसी सांड में एनर्जी का उबाल आता है कुछ कुछ वैसा ही उबाल कभी कभी हमारे दिल में आता है जब भी ये किसी हिन्दी चिट्ठाजगत की खबर पर उछलते [...]

चिट्ठाजगत जैसे चांदनी चौक, ब्लोगवाणी जैसे कोयल की कूक

बहुत दिनों से सोच रहा था कि इन दोनों को आमने सामने रख के तोलूँ, अब आप पूछोगे कितने दिनों से? तो जनाब उन दिनों से जब चिट्ठाजगत का स्वरूप धारावी (मुम्बई की मशहूर झोपड़पट्टी) जैसा हो गया था। लेकिन हर वक्त कंप्यूटर खोलते ही भूल जाता था। पिछले कई हफ्तों से मैने नोट किया [...]

आओ यूँ हीं लड़ मरें

एक बहुत पुराना फिल्मी गीत है, “चैन से हमको कभी, तुमने जीने ना दिया“, अगर भारत (माता) में जीवन होता तो वो यही गीत हरदम गुनगुना रही होती। चिट्ठाजगत हो या मुम्बई या कहीं ओर सब जगह यही लड़ना लड़ाना, मरना मारना, तू मेरी पीठ में मार, मैं तेरी पीठ में मारूँगा मचा हुआ है। [...]

कौन बड़ा? चिट्ठाकार या पत्रकार

आशीष के बोल हल्ला में, मैं चिट्ठाकार और पत्रकार के बीच की कभी ना खत्म होने वाली पोस्ट पढ़ रहा था। मुझे लगा क्यों ना मैं भी अपने 2 सेंटस की आहुति इस बहस में डाल दूँ। चिट्ठाकार यानि पर्सनल कंप्यूटर और पत्रकार यानि मैंकिंतोस मैं तकनीक से जुड़ा चिट्ठाकार हूँ इसलिये इन दोनों के [...]

SMS वाले प्रोग्रामों में भी होता है घपला

टीवी में आजकल काफी ऐसे प्रोग्राम आने लगे हैं जिनमें दर्शकों से अपने पसंदीदा कलाकार या गायक गायिका को जिताने के लिये SMS करने को कहा जाता है। जाहिर सी बात है अपने पसंदीदा कलाकार को जिताने के लिये दर्शक ऐसा करते भी हैं और दर्शकों के द्वारा किये SMS से टीवी वालों की अच्छी [...]

स्वीमिंग पूल में टॉपलैसः आप का क्या कहना है?

इस बहस में महिला चिट्ठेकारों या रीडरस के क्या विचार हैं ये मैं जरूर जानना चाहूँगा क्योंकि ये कुछ लड़कियों या महिलाओं ने शुरू ही महिला और पुरूषों में समान अधिकार की बात पर किया है। ये खबर है स्टॉकहोम (स्वीडन) की, जहाँ २ लड़कियाँ टॉपलैसे हो कर पब्लिक स्वीमिंग पूल में तैरने पहुँच गयी। [...]

उल्टा चोर कोतवाल को डांटे

यहाँ कोतवाल है भारतीय क्रिकेट कंट्रोल बोर्ड जो कि अपने को वास्तव में भी भारतीय क्रिकेट का कोतवाल समझता है और चोर जो कोतवाल को डांट रहा है वो हैं शाहरूख किंग खान। शाहरूख का कहना है कि भारतीय क्रिकेट कंट्रोल बोर्ड ने उनके साथ वो सलूक नही किया जैसा शायद वो चाहते थे इसलिये [...]

हल्ला मचा रखा है नंदीग्राम बंदीग्राम

इधर कुछ दिनों से देख रहा हूँ कि हर तीसरी या चौथी पोस्ट नंदीग्राम पर ही होती है, हिन्दी चिट्ठाजगत में नंदीग्राम का ही शोर है। अरे इतना शोर मचाने की क्या जरूरत है ये तो गरीब हैं, किसान हैं ये तो शायद पैदा ही कुचले जाने के लिये हैं। इनका ये ही हस्र होना [...]

  • Page 1 of 2
  • 1
  • 2
  • >