< Browse > Home / Archive: September 2008

| Mobile | RSS

जीना सिखाती ये तस्वीरें

कहते हैं एक तस्वीर कई बार हजार शब्दों से ज्यादा प्रभावी होती है, कई बार ऐसा होता है कि मुश्किलों के आगे और कई तरह की असुविधाओं के चलते हम लोग थोड़ा डाउन महसूस करते हैं। और ऐसे समय में अगर इन लोगों को इन तस्वीर के जरिये देखें तो शायद यही कहना पड़ेगा – [...]

[ More ] September 26th, 2008 | 27 Comments | Posted in बस यूँ ही |

फिल्म समीक्षाः A Wednesday

A Wednesday, WOW! What a Superb film, इस फिल्म के बारे में अगर संक्षेप में लिखूँ तो वो होगा A MUST WATCH FILM। फिल्म के बारे में कुछ और बताने से पहले एक बात और कहना चाहूँगा कि कहानी के प्लॉट और आयडिया के मामले में नये फिल्मकार पुराने फिल्मकारों से बीस ही साबित हो [...]

[ More ] September 22nd, 2008 | 18 Comments | Posted in फिल्म समीक्षा |

देहली ब्लास्ट की चंद तस्वीरें

मुझे पराशरजी ने ईमेल से ये तस्वीरें भेजी, एक तो बहुत ही हृदय विदारक है या भयानक है कहूँ समझ नही आया। मैं कोशिश कर रहा था ये जानने कि फोटो में दिख रहे ये लोग किस धर्म के होंगे, देख रहा था इनके खून से क्या पता कुछ क्लू मिल जाये लेकिन NO LUCK। [...]

[ More ] September 18th, 2008 | 13 Comments | Posted in समाज और समस्‍या |

पराशर गौड़ की एक कविताः पीड़ा

पराशर गौड़ उत्तराखंडी सिनेमा के जनक कहे जाते हैं, इनके द्वारा पहाड़ी महिला के संघर्ष की कहानी पर निर्मित फिल्म गौरा अभी इस साल के शुरू में रिलीज हुई थी। इन्होंने फिल्मों के साथ साथ कई नाटक और कवितायें भी लिखीं हैं, आज इन्हीं की एक कविता पोस्ट कर रहा हूँ जो इन्होंने कल-परसों शायद [...]

अनिश्चित काल के लिये निठल्ला चिंतन बंद

सर्वसाधारण को सूचित किया जाता है कि निठल्ला चिंतन अनिश्चित काल के लिये बंद करना पड़ रहा है। निठल्ले के अचानक से त्याग पत्र देने की वजह से ऐसा किया जा रहा है। निठल्ले को मनाने और वापस लाने के लिये हमारी बातचीत जारी है लेकिन ये जल्दी होता नही दिख रहा। ये अभी तक [...]

[ More ] September 4th, 2008 | 13 Comments | Posted in जरा हट के |