< Browse > Home / कार्टून कोना, खालीपीली, मस्‍ती-मजा, व्यंग्य / Blog article: Profit Sharing | प्रोफिट शेयरिंग

| Mobile | RSS

Profit Sharing | प्रोफिट शेयरिंग


चिट्ठाजगत अधिकृत कड़ी

कल का कार्टून ‘शांति‘ तो एडिटरस ने भी अपनी पसंद में शामिल कर लिया। आज का कार्टून है हिंदी में और ये आपको बतायेगा प्रोफिट शेयरिंग के बारे में। प्रोफिट शेयरिंग बोले तो? अरे वही अपने लालूजी की कहानी।

Profit Sharing

Leave a Reply 2,320 views |
Follow Discussion

3 Responses to “Profit Sharing | प्रोफिट शेयरिंग”

  1. समीर लाल Says:

    हा हा!! एकच्यूल प्राफिट में कमी, बुक प्राफिट के लिये… कतई नहीं.. :) यह लालू एक्ट के खिलाफ बात है.

  2. सागर चन्द नाहर Says:

    मजेदार कार्टून, पर लालू जी इतने लल्लू नहीं है कि खुद की कमाई ( भले ही चारे की हो, मेहनत तो की है) रेल्वे में लगा दें।
    भैया हमें तो यह लगता है कि कहीं एनरॉन की तरह दिखाने के लिये झूठे आँकड़े तो नहीं बताये जा रहे? लालू जी के इस पद पर से हटने के बाद कहीं और बड़ा घोटाला ना निकले।

  3. Tarun Says:

    कभी कभी ये भी करना पड़ता है समीरजी, देखो ये सब करके कितना फायदा हुआ। इज्जत मिली, शोहरत मिली और पैसे आने के नये दरवाजे खुले। रेलवे मंत्रालय का जॉब पक्का हो गया है, अगर इधर का उधर नही करने की सोच में रहते तो अभी भी चारे पर केस चल रहा होता। पैसे को पैसा खिंचता है ये बात उन्हें अच्छी तरह मालूम है ;)

बड़ी देर कर दी, मेहरबाँ आते-आते

टिप्पणियों का शटर नयी पोस्ट पब्लिश करने के बाद कुछ दिनों ही खुला रहता है। पुरानी पोस्टस में आने वाले स्पॉम टिप्पणियों के मद्देनजर यह निर्णय लेना पड़ा, असुविधा के लिये खेद है। आप को अगर ये ब्लोग और इसमें लिखी पोस्ट पसंद आती हैं तो आप इसे सब्सक्राइब करके भी पढ़ सकते हैं, धन्यवाद।