< Browse > Home / धर्म, भारत, समाज और समस्‍या / Blog article: बलि और मासूम बच्‍चे

| Mobile | RSS

बलि और मासूम बच्‍चे

अभी अभी बी. बी. सी न्‍यूज में ये स्‍टोरी देखी जो दिल दहलाने वाली थी। खबर है कि उत्तर प्रदेश के किसी दूर दराज के गाँव में धार्मिक क्रिया के नाम पर दर्जनों बच्‍चों की बलि दी गयी (दी जा रही) है। आफिसरों का कहना है कि ऐसा अब बहुत कम होता है लेकिन चाहे कम ही सही, ऐसा करने वाले को वही सजा मिलनी चाहिये जो एक खूनी को दी जाती है।

ऊपर दिये गये कोड को कापी करके ब्राउजर पर पेस्‍ट करिये वीडियो देखने को और या फिर यहाँ पर क्‍िलक करिये और उसके बाद दाहिने तरफ दिये गये लिंक पर क्‍िलक करिये।

Leave a Reply 1,789 views |
  • No Related Post
Follow Discussion

One Response to “बलि और मासूम बच्‍चे”

  1. समीर लाल Says:

    कभी बहुत पहले अपनी लिखीं पंक्तियां यह देख फ़िर याद आ गयीं:

    “कितना गिरते जाओगे, नाप नही पैमानो मे,
    कुछ तो भेद बना रहने दो, इंसानों मे हैवानों मे.”

    समीर लाल

बड़ी देर कर दी, मेहरबाँ आते-आते

टिप्पणियों का शटर नयी पोस्ट पब्लिश करने के बाद कुछ दिनों ही खुला रहता है। पुरानी पोस्टस में आने वाले स्पॉम टिप्पणियों के मद्देनजर यह निर्णय लेना पड़ा, असुविधा के लिये खेद है। आप को अगर ये ब्लोग और इसमें लिखी पोस्ट पसंद आती हैं तो आप इसे सब्सक्राइब करके भी पढ़ सकते हैं, धन्यवाद।