< Browse > Home / Archive: August 2005

| Mobile | RSS

एक औरत की मौत

लोकल लोगों (जानवरों) के पुरूष फायर फाइटरस को एंट्री देने से इन्‍कार करने पर एक मुसलमान औरत की मौत। एक शर्मनाक खबर मानव जाति के लिये। सरकार को जरूरत है इन मामलों में सख्‍ती से निपटने के लिये। जब तक देश में ऐसे हादसे होते रहेंगे (समस्‍या रहेंगी), चाहे हम पावरफुल देशों की कतार में [...]

[ More ] August 22nd, 2005 | Comments Off | Posted in खबर गरमागरम, समाज और समस्‍या |

सीविलाइजेशनः कंक्‍वेशट आफॅ द मंथ – इंडिया

भारत हमेशा से ही आक्रमणकारियों के लिये स्‍वर्ग रहा है, ना जाने कितने ही पर्शियन, ग्रीक, चाइनीज नोमेड, अरब, पुर्तगाली, और अंग्रेज आये और फिर उन्‍हे वापस लौटना भी पड़ा, और लोकल हिन्‍दू राज्‍य इन सबके बावजूद अपने संस्‍कारों की जड़ें मजबूत करता रहा। खेल शुरू होता है पहले से ही तय किये गये ७ [...]

[ More ] August 18th, 2005 | Comments Off | Posted in खालीपीली |

द राइजिंगः Ballad of Mangal Pandey

द राइज़िंग एक गंभीर सिनेमाई प्रयास है। यह राइजिंग सिर्फ एक सिपाही मंगल पांडे के बारे में नही बल्‍िक पूरे आवाम की जागृति के बारे में है। एक बहुत ही अच्‍छा सामुहिक प्रयास है, सभी क्षेत्रों में अच्‍छा काम किया गया है चाहे हो एक्‍टिंग हो, या हिमान धमिजा कि सिनेमेटोग्राफी, और या रहमान संगीत [...]

[ More ] August 14th, 2005 | Comments Off | Posted in फिल्म समीक्षा |