< Browse > Home /

| Mobile | RSS

आँखों पर एक चर्चा: आँखों पर लिखे कुछ बेहतरीन हिंदी फिल्मी गीत – भाग १

मैंने पिछले एक पोल में पूछा था कि शरीर के किस अंग की तारीफ में लिखे गीत ज्यादा पसंद हैं और उसमें नंबर एक पसंद थी “आँखें (Eyes)“। आज से आगे की कुछ पोस्ट तक उन गीतों की बात करेंगे जो आँखों के ऊपर लिखे गये हैं या जिन गीतों में आँखों का जिक्र आता [...]

[ More ] July 23rd, 2010 | 3 Comments | Posted in Ek Shabd Sau Afsaane |

पीतल की मेरी गागरी दिल्ली से मोल मंगायी रे

अफलातूनजी ने जब जयदेव का संगीत सुनाया तो मुझे ध्यान आया ये गीत, वैसे तो जयदेव साहब के संगीतबद्ध किये बहुत सारे मधुर गीत हैं लेकिन मुझे ये थोड़ा जुदा लगता है। ये गीत शायद बहुत कम लोगों ने सुना हो ये भी एक वजह है इसे सलेक्ट करने की। इस गीत को लिखा है [...]

[ More ] August 22nd, 2009 | 5 Comments | Posted in Situational |

दिल विल ४: धीरे धीरे मचल ऐ दिले बेकरार

पिछले एपिसोड में मैंने शादी के आठ प्रकार बताये थे, आज उनमें से कुछ के बारे में बताते हैं कि वो किस तरह के विवाह होते थे। ब्रहमा विवाह (Brahma Marriage), इसमें लड़की का पिता या गार्जियन लड़के को पसंद करता है और वेद मंत्रों के बीच लड़की को मंहगे कपड़े और गहने देकर विदा [...]

[ More ] February 5th, 2009 | 6 Comments | Posted in For Your Valentine, Romantic |

कहीं एक मासूम नाजुक सी लड़की फासलों से गुजरती रही

धीमा धीमा हल्का हल्का सा संगीत हो मीठे प्यारे बोल हों और मोहम्मद रफी की आवाज हो, तो बता सकते हैं क्या बना? इससे बना फिल्म शंकर हुसैन का ये गीत – कहीं एक मासूम नाजुक सी लड़की। ये फिल्म १९७७ में आयी थी और इस फिल्म में संगीत दिया था खैय्याम ने, और इस [...]

[ More ] October 14th, 2008 | 11 Comments | Posted in Romantic |