< Browse > Home /

| Mobile | RSS

दिल विल ५: छुपा लो यूँ दिल में प्यार मेरा कि जैसे मंदिर में लौ दिये की

कल हमने तीन तरह के विवाहों की बात की थी, आज उसी श्रृंखला को आगे बढ़ाते हैं और कुछ अन्य तरह के विवाहों पर नजर डालते हैं। प्रजापत्या विवाह (Prajapatya Marriage), इसमें लड़की का पिता लड़की और लड़के को आशीर्वाद देकर विदा करता है – आप दोनों अपने कर्तव्य का निर्वाह एक साथ करें। गंधर्व [...]

[ More ] February 6th, 2009 | 6 Comments | Posted in For Your Valentine, Romantic |

दिल विल ४: धीरे धीरे मचल ऐ दिले बेकरार

पिछले एपिसोड में मैंने शादी के आठ प्रकार बताये थे, आज उनमें से कुछ के बारे में बताते हैं कि वो किस तरह के विवाह होते थे। ब्रहमा विवाह (Brahma Marriage), इसमें लड़की का पिता या गार्जियन लड़के को पसंद करता है और वेद मंत्रों के बीच लड़की को मंहगे कपड़े और गहने देकर विदा [...]

[ More ] February 5th, 2009 | 6 Comments | Posted in For Your Valentine, Romantic |

दिल विल ३: हमने देखी है उन आँखों की महकती खुशबू

पिछले दो एपिसोड में हमने नजर डाली थी प्यारी की स्टाईल और प्यार की कैटेगरी पर। प्यार के बाद आता है शादी का नंबर, देखते हैं प्राचीन भारत में हिन्दू धर्म में कितने तरह से विवाह होते थे। कई लोग पहले आपस में प्यार करते हैं फिर इस रिश्ते को शादी में तब्दील करते हैं [...]

[ More ] February 4th, 2009 | 16 Comments | Posted in For Your Valentine, Romantic |

वंदे मातरम, वंदे मातरम

देशभक्ति के गीतों की त्रिवेणी का अंतिम गीत है वंदे मातरम् जो भारत का राष्ट्रीय गान है। इसे बंकिमचन्द्र चट्टोपाध्याय ने बंगाली व संस्कृत मिश्रित भाषा मे लिखा था। बंकिमचन्द्र चट्टोपाध्याय ने वन्दे मातरम् गीत के पहले दो पद्य 1876 में संस्कृत में लिखे। इन दोनो पद्य में केवल मातृ-भूमि की वन्दना है। उन्होंने 1882 [...]

[ More ] January 26th, 2009 | 6 Comments | Posted in Patriotic Songs |