< Browse > Home /

| Mobile | RSS

मैली चादर ओढ़ के कैसे

बचपन में जब हम सोते से उठते थे तो बड़े ही मीठे मीठे भजन सुनायी पड़ते थे, उनमें से एक था मैली चादर ओढ़ के कैसे द्वार तुम्हारे आऊँ। हालाँकि उम्र के उस पड़ाव में भजनों से उतना अटेचमेंट नही होता जितना उम्र के आखिरी दौर में लेकिन फिर भी कुछ भजन ऐसे थे जो [...]

[ More ] July 11th, 2010 | 2 Comments | Posted in Spiritual (Bhajan) |