< Browse > Home / Archive by category 'Filmy'

| Mobile | RSS

दिल विल ५: छुपा लो यूँ दिल में प्यार मेरा कि जैसे मंदिर में लौ दिये की

कल हमने तीन तरह के विवाहों की बात की थी, आज उसी श्रृंखला को आगे बढ़ाते हैं और कुछ अन्य तरह के विवाहों पर नजर डालते हैं। प्रजापत्या विवाह (Prajapatya Marriage), इसमें लड़की का पिता लड़की और लड़के को आशीर्वाद देकर विदा करता है – आप दोनों अपने कर्तव्य का निर्वाह एक साथ करें। गंधर्व [...]

[ More ] February 6th, 2009 | 6 Comments | Posted in For Your Valentine, Romantic |

दिल विल ४: धीरे धीरे मचल ऐ दिले बेकरार

पिछले एपिसोड में मैंने शादी के आठ प्रकार बताये थे, आज उनमें से कुछ के बारे में बताते हैं कि वो किस तरह के विवाह होते थे। ब्रहमा विवाह (Brahma Marriage), इसमें लड़की का पिता या गार्जियन लड़के को पसंद करता है और वेद मंत्रों के बीच लड़की को मंहगे कपड़े और गहने देकर विदा [...]

[ More ] February 5th, 2009 | 6 Comments | Posted in For Your Valentine, Romantic |

दिल विल ३: हमने देखी है उन आँखों की महकती खुशबू

पिछले दो एपिसोड में हमने नजर डाली थी प्यारी की स्टाईल और प्यार की कैटेगरी पर। प्यार के बाद आता है शादी का नंबर, देखते हैं प्राचीन भारत में हिन्दू धर्म में कितने तरह से विवाह होते थे। कई लोग पहले आपस में प्यार करते हैं फिर इस रिश्ते को शादी में तब्दील करते हैं [...]

[ More ] February 4th, 2009 | 16 Comments | Posted in For Your Valentine, Romantic |

दिल विल प्यार व्यार – कुछ बातें कुछ गीत (एपिसोड २)

[प्यार एक ऐसा एहसास है जिसे जिंदगी के किसी ना किसी मुकाम में हर कोई महसूस करता है। उम्र के साथ साथ इसके मायने भले ही बदलते जाते हो लेकिन प्यार एक एहसास बन हमारे अंदर कहीं ना कहीं रहता ही है। फरवरी यानि बसंत का महीना, उमंग का महीना, वैलेंटाईन का महीना यानि प्यार [...]

[ More ] February 2nd, 2009 | 5 Comments | Posted in For Your Valentine, Romantic |

दिल विल प्यार व्यार – कुछ बातें कुछ गीत (एपिसोड १)

[प्यार एक ऐसा एहसास है जिसे जिंदगी के किसी ना किसी मुकाम में हर कोई महसूस करता है। उम्र के साथ साथ इसके मायने भले ही बदलते जाते हो लेकिन प्यार एक एहसास बन हमारे अंदर कहीं ना कहीं रहता ही है। फरवरी यानि बसंत का महीना, उमंग का महीना, वैलेंटाईन का महीना यानि प्यार [...]

[ More ] February 1st, 2009 | 10 Comments | Posted in For Your Valentine, Romantic |

वंदे मातरम, वंदे मातरम

देशभक्ति के गीतों की त्रिवेणी का अंतिम गीत है वंदे मातरम् जो भारत का राष्ट्रीय गान है। इसे बंकिमचन्द्र चट्टोपाध्याय ने बंगाली व संस्कृत मिश्रित भाषा मे लिखा था। बंकिमचन्द्र चट्टोपाध्याय ने वन्दे मातरम् गीत के पहले दो पद्य 1876 में संस्कृत में लिखे। इन दोनो पद्य में केवल मातृ-भूमि की वन्दना है। उन्होंने 1882 [...]

[ More ] January 26th, 2009 | 6 Comments | Posted in Patriotic Songs |

ऐ मेरे वतन के लोगों, तुम खूब लगा लो नारा

लता मंगेशकर का गाया ये गीत किसी परिचय का मोहताज नही है, शायद ही ऐसा कोई दिन गया होगा जब शहीदों और देशभक्ति से संबन्धित बातें हुई हों और इस गीत का जिक्र ना आया हो। दिल को बहुत ही भावुक कर देना वाला ये गीत कवि प्रदीप ने लिखा था जिसे सी. रामचंद्र ने [...]

[ More ] January 25th, 2009 | 5 Comments | Posted in Patriotic Songs, kavi pradeep |

ऐ मेरे प्यारे वतन, ऐ मेरे बिछड़े चमन, तुझ पे दिल कुर्बान

मौका भी है दस्तूर भी, गणतंत्र दिवस दूर नही इसलिये अगले तीन दिन तीन गीत देश और शहीदों के नाम। शुरूआत कर रहे हैं फिल्म काबुलीवाला के लिये मन्ना दा के गाये गीत ऐ मेरे प्यारे वतन से। काबुलीवाला कहानी रविन्द्र नाथ टैगोर ने लिखी थी और इसी पर बनी थी फिल्म काबुलीवाला, पहले बंगाली [...]

[ More ] January 24th, 2009 | 8 Comments | Posted in Patriotic Songs |