< Browse > Home / Archive by category 'Filmy'

| Mobile | RSS

अलबेली नार प्रीतम द्वार खड़ी – मन्ना डे की आवाज में

1962 में रीलिज जिस फिल्म का ये गीत है वो तो मैं अब कह नही सकता लेकिन आप में से बहुत होंगे जिनके पास अभी भी ये मौका है कि वो कहें – मैं शादी करने चला। जी हाँ इसी फिल्म का ये गीत है, अलबेली नार प्रीतम द्वार खड़ी, आवाज है वन एंड ओनली [...]

[ More ] May 1st, 2009 | 6 Comments | Posted in Classical |

माँ पर एक खुबसूरत गीतः उसको नही देखा हमने कभी

माँ पर लिखी कविताओं की चर्चा पढ़ते हुए माँ पर मजरूह सुल्तानपुरी का लिखा गीत “उसको नही देखा हमने कभी, पर इसकी जरूरत क्या होगी, ऐ माँ तेरी सूरत से अलग भगवान की सूरत क्या होगी“, मुझे स्ट्राईक किया। जब मैं छोटा था तो ये गीत विविध भारती पर खूब बजता था। उस वक्त गीत [...]

[ More ] April 15th, 2009 | 16 Comments | Posted in Maa (mother) |

सुनिये मन्ना डे और लता मंगेशकर का गाया गीत “शाम ढले जमुना किनारे”

जब मैं दिल्ली में था तब इस गीत को बहुत सुनता था, इस गीत को मन्ना दा ने इतनी मधुरता से गाया है कि बस सुनते जाओ और रिप्ले करते जाओ। राग खमाज (Khamaj) पर बेस्ड ये गीत है फिल्म पुष्पांजली से जो 1970 में रीलिज हुई थी। संगीत दिया था लक्ष्मीकांत प्यारेलाल ने, आवाज [...]

[ More ] April 3rd, 2009 | 11 Comments | Posted in Filmy, Raag Khamaj, Raaga Based Songs |

सुनिये बालिका वधु का गीत: बड़े अच्छे लगते हैं, ये नदिया ये धरती, ये रैना और…

मैं टीवी वाली बालिका बधु नही बल्कि फिल्म वाली की बात कर रहा हूँ। 1976 में तरूण मजुमदार निर्देशित एक बहुत खुबसूरत फिल्म रीलिज हुई थी नाम था बालिका बधु, आजादी की लड़ाई को बैकग्राउंड रख ये बाल विवाह पर बनी एक फिल्म थी। फिल्म में युवा नायक के रूप में थे सचिन और बालिक [...]

[ More ] March 26th, 2009 | 10 Comments | Posted in Filmy, Romantic |

एक चमेली के मंडवे तले, दो बदन प्यार की आग में जल गये

आज वी-डे के उपलक्ष्य में ये गीत सुनिये दो बिल्कुल जुदा अंदाज और संगीत के साथ, एक में फिल्मी गीत वाला अंदाज है तो दूसरे में गजल का। फर्क बस संगीत और गायकी का है, गीत के बोल और भाव वही हैं। “एक चमेली के मंडवे तले, दो बदन प्यार की आग में जल गये”, [...]

[ More ] February 14th, 2009 | 6 Comments | Posted in For Your Valentine, Romantic |

दिल विल ७: झिलमिल सितारों का आँगन होगा और एक तेरा साथ हमको

आज के ये दोनों गीत स्पेशल हैं, वजह? वजह थोड़ा खास है क्योंकि ये किसी को समर्पित हैं। प्यार से शुरू हुआ दिल विल का सफर विवाह तक पहुँचा। विवाह के बाद दो जिस्म एक जान हो जाते हैं, नये-नये ख्वाब सजाये जाते हैं। एक दूसरे के दुख दर्द और खुशी में हर पल साथ [...]

[ More ] February 10th, 2009 | 6 Comments | Posted in For Your Valentine, Romantic |

एक नजरः म्यूजिक एलबम देहली ६ (साथ में सुनिये ससुराल गेंदा फूल)

देहली ६ का म्यूजिक एलबम ए आर रहमान, रजत ढोलकिया और प्रसून जोशी की एक मधुर और संगीतमय प्रस्तुति है जो शास्त्रीय, आधुनिक रॉक और लोक संगीत की त्रिवेणी का मजा देती है। रहमान की देहली ६ का संगीत, स्लमडॉग से कहीं बेहतर लगा मुझे। यही नही इस एलबम के गीतकार प्रसून जोशी निसंदेह मुझे [...]

[ More ] February 9th, 2009 | 3 Comments | Posted in Music Album Reviews, New Songs |

दिल विल ६: धानी चुनरी पहन सज के बन के दुल्हन

अभी तक मैं ६ विवाह के प्रकार बता चुका हूँ, आज बाकि बचे हुए दो विवाहों के बारे में बताता हूँ। ये दोनों प्रकार के विवाह समाज में अपराध के रूप में आते हैं। राक्षसा विवाह (Rakshasa Marriage), ये बल-पूर्वक किया गया विवाह होता था, इसमें लड़की को उसके घर से बल पूर्वक उठा ले [...]

[ More ] February 7th, 2009 | 6 Comments | Posted in For Your Valentine, Romantic |