< Browse > Home / Filmy, Holi Songs, Non Filmy, Raaga Based Songs / Blog article: Holi: होली की मदहोशी आबिदा परवीन, शोभा गुर्टू और छन्नूलाल मिश्रा की आवाज के साथ

| Mobile | RSS

Holi: होली की मदहोशी आबिदा परवीन, शोभा गुर्टू और छन्नूलाल मिश्रा की आवाज के साथ

February 24th, 2010 | 8 Comments | Posted in Filmy, Holi Songs, Non Filmy, Raaga Based Songs

होली के अवसर पर लिखी इस पोस्ट में क्लासिकल और फिल्मी गीतों के द्वारा आनंद लेंगे होली की मस्ती का। अक्सर होली के आते ही फिजा में रेडियो और टेलिविजन के माध्यम से सुनायी पड़ते हैं होली के गीत। ये गीत मुख्यतया फिल्मी होते हैं और अक्सर चुनिंदा फिल्मों के वो ही चुनिंदा गीत होते हैं जो हर साल बजते रहते हैं मसलन सिलसिला का ‘रंग बरसे’ या शोले का ‘होली के दिन’।

इन फिल्मी गीतों के शोर में होली की असली महक कहीं खोती सी लगती है, वो महक जो होली पर गाये लोक गीतों में होती है। होली पर गाये क्लासिकल गीतों में होती है। मैंने गौर किया है कि होली पर लिखे और गाये ज्यादातर लोक या क्लासिकल गीतों में राधा कृष्ण का जिक्र जरूर दिखायी देता है, फागुन या अबीर गुलाल की बातें होती हैं वही इसके उलट ज्यादातर फिल्मी होली गीतों में ये सब भाव नदारद ही होते हैं।

इसलिये इस बार होली में कुछ ऐसे ही गीतों का आनंद लेते हैं जो या तो क्लासिकल हैं या क्लासिकल टच लिये हुए होली के फिल्मी गीत हैं।

इसी में सबसे पहला है, आबिदा परवीन का होली पर गाया गीत – होली खेलन आया पिया (Holi Khelan Aaya Piya)

Audio clip: Adobe Flash Player (version 9 or above) is required to play this audio clip. Download the latest version here. You also need to have JavaScript enabled in your browser.

एक बहुत ही प्रसिद्ध लोक गीत है, जिसे अलग अलग लोगों ने अलग अलग अंदाज से गाने की कोशिश की है उसी गीत का आनंद लेते हैं शोभा गुर्टू की आवाज में, गीत है – आज बिरज में होली रे रसिया (Aaj Biraj Mein Holi Re Rasiya)

Audio clip: Adobe Flash Player (version 9 or above) is required to play this audio clip. Download the latest version here. You also need to have JavaScript enabled in your browser.

और इनसे जुदा लेकिन होली का ही समाँ बँध रहा है छन्नूलाल मिश्रा के गाये इस गीत में – रंग डारूँगी (Rung Darungi)

Audio clip: Adobe Flash Player (version 9 or above) is required to play this audio clip. Download the latest version here. You also need to have JavaScript enabled in your browser.

फिल्मी गीतों में क्लासिकल या लोक गीतों का टच लिये गीत बहुत ही कम लिखे गये हैं। इनमें से कुछ गीतों में एक है, जो सबसे ज्यादा प्रसिद्ध है वो है फिल्म नवरंग का सी रामचन्द्र का संगीतबद्ध और संध्या पर फिल्माया मशहूर गीत – जा रे हट नटखट। इस गीत को गाया है, आशा भोंसले, महेन्द्र कपूर और सी रामचंद्र ने, इस गीत को लिखा था भरत व्यास ने। एक और होली का गीत है जिस मोहम्मद रफी ने फिल्म गोदान के लिये गाया था, बिरज में होली खेलत नंदलाल। इसके अलावा बालिका बधू में भी होली का एक गीत फिल्माया गया था जिसमें लोकगीत का टच साफ दिखायी देता है, गीत कुछ ऐसे था – आयो फागुन हटीलो गोरी चोली पे पीलो रंग डारन दे

Audio clip: Adobe Flash Player (version 9 or above) is required to play this audio clip. Download the latest version here. You also need to have JavaScript enabled in your browser.

इनके अलावा भी कुछ और फिल्मी गीत हैं जो आजकल की होली की हुड़दंग से अलग एक शांत सी होली का शमाँ बाँधते हैं, इनमें एक है शमशाद बेगम का मदर इंडिया में गाया गीत – होली आयी रे कन्हाई रंग छलके सुना दे जरा बाँसुरी। एक और गीत है फिल्म फागुन से जिसे लता मंगेशकर ने गाया था – पिया संग खेलूँ होली फागुन आयो रे

Audio clip: Adobe Flash Player (version 9 or above) is required to play this audio clip. Download the latest version here. You also need to have JavaScript enabled in your browser.

अगर आपको भी होली का कोई ऐसा गीत याद आता है जो क्लासिकल या लोक गीत से प्रेरित हो तो जरूर बतायें।

(अगर इनसे भी आपका होली का खुमार नही उतरा तो एक नजर आप होली पर लिखी इस पिछले साल की पोस्ट पर मार सकते हैं और अगर कुमाँऊनी होली के बारे में जानना चाहें तो यहाँ होली का लुत्फ उठा सकते हैं।)

होली की शुभकामनायें।

Leave a Reply 4,516 views |

शायद आप इन्हें भी पढ़ना-सुनना पसंद करें

Follow Discussion

8 Responses to “Holi: होली की मदहोशी आबिदा परवीन, शोभा गुर्टू और छन्नूलाल मिश्रा की आवाज के साथ”

  1. nirmla.kapila Says:

    बहुत अच्छी प्रस्तुति धन्यवाद्

  2. पंकज सुबीर Says:

    दुर्लभ गीत है ये सारे होली के शोभा जी के इस गीत को तो मैं कब से ढूंढ1 रहा था । आभार

  3. आनन्‍द Says:

    आज विरज में होली रे रसिया… पुराने होली के गीतों ने होली का मजा दुगना कर दिया

  4. dilip bhatt, usa Says:

    very good, I spend 30 minutes to find these nice songs.
    thank you
    dilip bhatt

  5. Pratibha Kulshrestha Says:

    Enjoyed Abida’ and Channulal’Holi.

    Maza aa gaya

  6. Pratibha Kulshrestha Says:

    Enjoyed Abida’ and Channulal’Holi.

  7. Zarina Matcheswala Says:

    Thoroughly enjoyed the Holi & Sufi Poetry & Music.
    Many thanks for sharing with us.
    Zarina

  8. Gulshan Malhotra Says:

    Nice holi song- Holi Aaye re Kanhai rang barse from Mother India

बड़ी देर कर दी, मेहरबाँ आते-आते

टिप्पणियों का शटर कुछ दिनों ही खुला रहता है। असुविधा के लिये हम से भूल हो रही है हमका माफी देयीदो, अच्छा कहो, चाहे बुरा कहो....हमको सब कबूल, हमका माफी देयीदो।