< Browse > Home / Archive: September 2009

| Mobile | RSS

सावन की रिमझिम में थिरक थिरक नाचे रे मन्ना दा

मन्ना डे के गाये जितने मधुर फिल्मी गीत होते हैं उतने ही मधुर होते हैं नॉन फिल्मी गीत, अगर मेरी बात का विश्वास नही तो हाथ कंगन को आरसी क्या खुद ही इस गीत को सुनकर डिसाइड कर लीजिये। ये गीत किसी भी एंगिल से नॉन फिल्मी नही लगता लेकिन हकीकत यही है कि है। [...]

[ More ] September 1st, 2009 | 1 Comment | Posted in Non Filmy |