< Browse > Home / Archive: March 2009

| Mobile | RSS

शर्मा बंधुओं को सुनियेः जैसे सूरज की गर्मी से जलते हुए तन को

जब मैं छोटा था तब दूरदर्शन में अक्सर एक भजन बजता (सुनता) हुआ दिखायी देता, भजन की कुछ समझ ना होने के बावजूद भी वो सुनने में बहुत मधुर लगता था। आज अचानक फिर से सुना तो मन को वैसा ही सुकून मिला जैसे तपती दोपहरी में छावँ में खड़े होने पर या पानी की [...]

[ More ] March 30th, 2009 | 11 Comments | Posted in Spiritual (Bhajan) |

सुनिये बालिका वधु का गीत: बड़े अच्छे लगते हैं, ये नदिया ये धरती, ये रैना और…

मैं टीवी वाली बालिका बधु नही बल्कि फिल्म वाली की बात कर रहा हूँ। 1976 में तरूण मजुमदार निर्देशित एक बहुत खुबसूरत फिल्म रीलिज हुई थी नाम था बालिका बधु, आजादी की लड़ाई को बैकग्राउंड रख ये बाल विवाह पर बनी एक फिल्म थी। फिल्म में युवा नायक के रूप में थे सचिन और बालिक [...]

[ More ] March 26th, 2009 | 10 Comments | Posted in Filmy, Romantic |

चंदन दास की आवाज में सुनियेः मैंने मुँह को कफन में छुपा जब लिया

आप में से अगर किसी को दूरदर्शन के जमाने की याद हो तो ये भी याद होगा कि उसमें अक्सर गाहे-बगाहे एक शख्स की महफिल जमती थी या कह लीजिये उसके गीत और गजल बजते थे। जी हाँ, सही पहचाना मैं चंदन दास की बात कर रहा हूँ। गीतों के अंदाज में गायी उनकी गजलें [...]

[ More ] March 23rd, 2009 | 7 Comments | Posted in Gazals |

कुछ कमसुने और पुराने होली के गीत

फाग, फागुन, चोली, गोरी, राधा, नंदलाल, छैला, रंग, होली जैसे शब्द ही आजकल चारों तरफ फिजां में उमड़ घुमड़ रहे हैं। और इन्हीं शब्दों से भरे कुछ होली के गीतों को हम आप को सुना रहे हैं, ये वो गीत हैं जो सुनने में कम आते हैं। हो सकता है कुछ आपने सुने हों कुछ [...]

[ More ] March 9th, 2009 | 10 Comments | Posted in Holi Songs |