< Browse > Home / Archive: February 2009

| Mobile | RSS

मिर्जा गालिब १: हैं और भी दुनिया में सुखनवर बहुत अच्छे

अगली कुछ पोस्टों की श्रृंखला में बात करेंगे मिर्जा गालिब की, उनकी लिखी कुछ गजलों की, और सुनेंगे कुछ गजलें। मिर्जा गालिब के ऊपर वैसे तो पहले ही बहुत कुछ लिखा और कहा जा चुका है लेकिन फिर भी अपनी तरफ से उन पर लिखने की कुछ गुस्ताखी तो हम भी कर ही सकते हैं। [...]

[ More ] February 28th, 2009 | 4 Comments | Posted in Gazals, Mirza Ghalib |

पहेली क्रमांक ९: क्या आप इस शख्स को पहचान सकते हैं?

३ मिनट की ये क्लिप सुनकर क्या आप बता सकते हैं कि आने वाली कुछ पोस्टों में हम किस का जिक्र करने जा रहे हैं? ये पहचान पाना कोई मुश्किल नही है, अगर आप जानते हैं ये क्लिप कहाँ से ली है तो समझ लीजिये आप उत्तर जानते हैं। चूँकि ये पहेली है इसलिये टिप्पणी [...]

[ More ] February 16th, 2009 | 5 Comments | Posted in Geet Paheli (Music Quiz) |

एक चमेली के मंडवे तले, दो बदन प्यार की आग में जल गये

आज वी-डे के उपलक्ष्य में ये गीत सुनिये दो बिल्कुल जुदा अंदाज और संगीत के साथ, एक में फिल्मी गीत वाला अंदाज है तो दूसरे में गजल का। फर्क बस संगीत और गायकी का है, गीत के बोल और भाव वही हैं। “एक चमेली के मंडवे तले, दो बदन प्यार की आग में जल गये”, [...]

[ More ] February 14th, 2009 | 6 Comments | Posted in For Your Valentine, Romantic |

दिल विल ७: झिलमिल सितारों का आँगन होगा और एक तेरा साथ हमको

आज के ये दोनों गीत स्पेशल हैं, वजह? वजह थोड़ा खास है क्योंकि ये किसी को समर्पित हैं। प्यार से शुरू हुआ दिल विल का सफर विवाह तक पहुँचा। विवाह के बाद दो जिस्म एक जान हो जाते हैं, नये-नये ख्वाब सजाये जाते हैं। एक दूसरे के दुख दर्द और खुशी में हर पल साथ [...]

[ More ] February 10th, 2009 | 6 Comments | Posted in For Your Valentine, Romantic |

एक नजरः म्यूजिक एलबम देहली ६ (साथ में सुनिये ससुराल गेंदा फूल)

देहली ६ का म्यूजिक एलबम ए आर रहमान, रजत ढोलकिया और प्रसून जोशी की एक मधुर और संगीतमय प्रस्तुति है जो शास्त्रीय, आधुनिक रॉक और लोक संगीत की त्रिवेणी का मजा देती है। रहमान की देहली ६ का संगीत, स्लमडॉग से कहीं बेहतर लगा मुझे। यही नही इस एलबम के गीतकार प्रसून जोशी निसंदेह मुझे [...]

[ More ] February 9th, 2009 | 3 Comments | Posted in Music Album Reviews, New Songs |

दिल विल ६: धानी चुनरी पहन सज के बन के दुल्हन

अभी तक मैं ६ विवाह के प्रकार बता चुका हूँ, आज बाकि बचे हुए दो विवाहों के बारे में बताता हूँ। ये दोनों प्रकार के विवाह समाज में अपराध के रूप में आते हैं। राक्षसा विवाह (Rakshasa Marriage), ये बल-पूर्वक किया गया विवाह होता था, इसमें लड़की को उसके घर से बल पूर्वक उठा ले [...]

[ More ] February 7th, 2009 | 6 Comments | Posted in For Your Valentine, Romantic |

दिल विल ५: छुपा लो यूँ दिल में प्यार मेरा कि जैसे मंदिर में लौ दिये की

कल हमने तीन तरह के विवाहों की बात की थी, आज उसी श्रृंखला को आगे बढ़ाते हैं और कुछ अन्य तरह के विवाहों पर नजर डालते हैं। प्रजापत्या विवाह (Prajapatya Marriage), इसमें लड़की का पिता लड़की और लड़के को आशीर्वाद देकर विदा करता है – आप दोनों अपने कर्तव्य का निर्वाह एक साथ करें। गंधर्व [...]

[ More ] February 6th, 2009 | 6 Comments | Posted in For Your Valentine, Romantic |

दिल विल ४: धीरे धीरे मचल ऐ दिले बेकरार

पिछले एपिसोड में मैंने शादी के आठ प्रकार बताये थे, आज उनमें से कुछ के बारे में बताते हैं कि वो किस तरह के विवाह होते थे। ब्रहमा विवाह (Brahma Marriage), इसमें लड़की का पिता या गार्जियन लड़के को पसंद करता है और वेद मंत्रों के बीच लड़की को मंहगे कपड़े और गहने देकर विदा [...]

[ More ] February 5th, 2009 | 6 Comments | Posted in For Your Valentine, Romantic |
  • Page 1 of 2
  • 1
  • 2
  • >