< Browse > Home / Romantic / Blog article: तेरे बिना जिंदगी से कोई शिकवा तो नही

| Mobile | RSS

तेरे बिना जिंदगी से कोई शिकवा तो नही

January 8th, 2009 | 5 Comments | Posted in Romantic

पिछली पहेली में अब तक के रिकार्ड उत्तर आये साथ में सभी ने गीत को पहचान भी लिया। वो डॉयलाग फिल्म आंधी के मधुर गीत ‘तेरे बिना जिंदगी से कोई शिकवा तो नही‘ के मध्य से लिया गया था। इस खुबसूरत गीत को संगीतबद्ध किया था राहुल देव बर्मन ने और शब्दों से सजाया (यानि गीत लिखा था) गुलजार ने। आवाज दी किशोर कुमार और लता मंगेशकर ने। ये गीत फिल्माया गया था संजीव कुमार और सुचित्रा सेन के ऊपर।

ये फिल्म बनी थी 1975 में जो कहा जाता है कि तत्कालीन प्रधानमंत्री इंदिरा गांधी के जीवन से प्रेरित थी, वहीं कुछ मानते हैं कि इंदिराजी के साथ-साथ वो तारकेश्वरी सिंहा के जीवन से भी प्रेरित थी। इस वजह से फिल्म विवादित हो गयी थी और तब पूरी रीलिज नही होने दी गयी लेकिन 1977 में जब इंदिरा गांधी चुनाव हार गयी तब रूलिंग जनता पार्टी ने फिल्म को क्लीन चिट दे दी और ये नेशनल टेलीविजन (दूरदर्शन) में दिखायी गयी।

शादीशुदा होते हुए भी कैरियर को लेकर पत्नी की महत्वाकांक्षा के चलते पति पत्नी को अलग होना पड़ता है, फिर मुद्दतों बाद जब दोनों मिलते हैं तो दिल की भावनायें गीत बन कुछ यूँ फूट पड़ती है -

Audio clip: Adobe Flash Player (version 9 or above) is required to play this audio clip. Download the latest version here. You also need to have JavaScript enabled in your browser.

पहेली का सही उत्तर देने के लिये स्मार्ट इंडियन, प्रशांत, निर्मला, अमित, ममता और रंजू आप सभी का धन्यवाद, सबसे पहले सही जवाब देने से स्मार्ट इंडियन बने इस पहेली के विजेता। आशा है आप ऐसे ही उत्साहवर्धन करते रहेंगे

Leave a Reply 3,850 views |

शायद आप इन्हें भी पढ़ना-सुनना पसंद करें

Follow Discussion

5 Responses to “तेरे बिना जिंदगी से कोई शिकवा तो नही”

  1. alpana Says:

    yahan kab pahli shuru hui???pata hi nahin chalaa..film geet paheli to bahut pasand hain mujhey…

    email subscribe karti hun..agli paheli ka intzaar rahega.

  2. समीर लाल Says:

    ये पहेली कब आई, मुझे पता ही नहीं चल पाया वरना पहला सही जवाब तो मेरा ही होता आखिर मेरा प्रिय गीत है. :)

  3. सागर नाहर Says:

    मुझे भी पता नहीं चला।
    तरुण जी पहेली कम से कम दो दिन तो रखा कीजिये और जवाबों को भी मॉडरेशन कीजिये, वरना सही जवाब दिखने के बाद कोई कोशिश भी नहीं करेगा, या फिर टीप देगा।

  4. vidhu Says:

    paheli kaa ptaa nahi chlaa

  5. nirmla.kapila Says:

    tarun ji mera sab se priye geet hai magar jab bhi link lagati hoon aavaaj nahi aati agar bata saken to kripa hogi

बड़ी देर कर दी, मेहरबाँ आते-आते

टिप्पणियों का शटर कुछ दिनों ही खुला रहता है। असुविधा के लिये हम से भूल हो रही है हमका माफी देयीदो, अच्छा कहो, चाहे बुरा कहो....हमको सब कबूल, हमका माफी देयीदो।