< Browse > Home / Geet Paheli (Music Quiz) / Blog article: पहेली क्रमांक ८: इस गीत और गायक को पहचानिये

| Mobile | RSS

पहेली क्रमांक ८: इस गीत और गायक को पहचानिये

January 15th, 2009 | 7 Comments | Posted in Geet Paheli (Music Quiz)

इस क्लिप में दिये कुछ शब्दों को सुनकर क्या आप बता सकते हैं ये गीत कौन सा है और इसे किस गायक ने गाया है? इस बार की पहेली थोड़ा सा मुश्किल पड़ सकती है, इसलिये क्लिप थोड़ा देर तक बजायी है, थोड़ी कोशिश करके देखिये।

गीत पहेली क्लिप:

Audio clip: Adobe Flash Player (version 9 or above) is required to play this audio clip. Download the latest version here. You also need to have JavaScript enabled in your browser.

Leave a Reply 2,188 views |

शायद आप इन्हें भी पढ़ना-सुनना पसंद करें

Follow Discussion

7 Responses to “पहेली क्रमांक ८: इस गीत और गायक को पहचानिये”

  1. यूनुस Says:

    अरे अरे अरे । पहली सुनकार में तो हमें जे भाईसाहब आनंद बख्‍शी लग रए हैं ।
    सई हैं या गलत पर अपनो जवाब तो बख्‍सी दद्दा ही हुए ।
    जय हो ।

  2. nirmla.kapila Says:

    tarunji apni yadasht to saath nahi deti magar isi bahane apka geet sun lete hain dhnyabad

  3. mamta Says:

    मुश्किल है इसीलिए समझ नही आया । :)

  4. dinkar Says:

    गीत तो आसान सा है लेकिन गायक का नाम थोड़ा मुश्किल सा है
    पत्थर से शीशा टकरा कर वो कहते हैं दिल टूटे ना

    राजश्री की फिल्म थी, सावन को आने दो और गाया है आनन्द कुमार ने

  5. alpana verma Says:

    yusuf azad qawwal singer ho saktey hain–qawwali kaun si hai nahin maluum chal raha

  6. दिनेशराय द्विवेदी Says:

    नहीं पहचान पाए!

  7. shambhu nath Says:

    प्यार के धोखे कैसे दस्ते है
    शायद तुमको मालूम होगा//
    नींद तो मेरी टूट गयी है,
    तेरी नींद का क्या होगा॥
    साथ होता तो थपकी देता
    सीने पर दिल रख सो जाती
    कुछ पल तो मई भी खुश रहता
    ये वक्त बताये गा क्या होगा॥
    मेरी हँसी तो रूठ गयी है
    तेरी हँसी का क्या होगा॥
    साथ होता तो खुश कर देता
    मेरी बातो पर हस देती
    उसी पालो में मन खो जाता
    ये वक्त बताये गा क्या होगा//
    मेरा दिल तो दूर चला गया
    तेरे दिल का क्या होगा
    पास होता तो थाम लेता
    गद गद हो जाता ललचाया जिया
    खुशी के मोटी मई चुग लेता
    ये वक्त बायेगा क्या होगा//
    आंधी तो मुझको ठेल दिया है
    तेरे सहारे का क्या होगा
    पास होता तो वाहो में जाकर कर
    मन की बातें कह देता ,,
    कब झरने से आंसू बंद होगे,
    ये वक्त बताये गा क्या होगा//

बड़ी देर कर दी, मेहरबाँ आते-आते

टिप्पणियों का शटर कुछ दिनों ही खुला रहता है। असुविधा के लिये हम से भूल हो रही है हमका माफी देयीदो, अच्छा कहो, चाहे बुरा कहो....हमको सब कबूल, हमका माफी देयीदो।