पहला अनुभवः गुगल लहर (Google Wave)

आज कई दिनों बाद मेल बॉक्स देखा तो उसमें गुगल की लहर के साथ खेलने कुदने का निमंत्रण आया हुआ था। उसी समय निमंत्रण को स्वीकार किया और लॉगिन कर लिया। लॉगिन करते ही हिंदी ब्लोग जगत के कुछ महानुभावों को पहले से ही वहाँ लहरों के साथ अटखेलियाँ करते पाया, जिनमें थे – अमित (गुप्ता), देबू दा, मिर्ची सेठ, छोटे बैंगाणी यानि पंकज, जगदीश भाटिया और प्रतीक। हाथ पैर पटक पटक कर हमने भी दो लहरों को हवा दी – एक को हिंदी की दूसरी को सुडोकू की।

आप लोग सोच रहे होंगे वेव कैसे बनती हैं या क्रियेट होती हैं तो जितना मैंने ३-४ मिनट में ट्राई किया बता दूँ -
१. गुगले की भाषा में एक नयी वेन क्रियेट की यानि आम बोलचाल की भाषा में एक नया टॉपिक शुरू कर नया वार्तालाप शुरू किया।
२. उसमें यानि बहस में जिन जिन की हिस्सेदारी करवानी है उनके नाम ऐड किये (डन के बटन पर क्लिकर करते ही ये नाम सलेक्ट करने का बॉक्स उभर के आ जाता है)।


बस शुरू हो गया लहरों का खेला….

अब आप सोच रहे होंगे कि गुगल का ये नया शगुफा क्या है? पहली नजर में जो देखा उसके हिसाब से कहूँ तो गुगल लहर यानि गुगल वेव = थोड़ा ट्वीटर + थोड़ा फेसबुक + थोड़ा जीमेल + थोड़ा ओरकुट + थोड़ा चैट + बहुत सारे प्लग एंड प्ले प्लगिन (iPhone की एप्लीकेशन की माफिक); यही है गुगल वेव, अलग अलग सोशियल नेटवर्किंग की साईटस के जुदा जुदा पहलुओं का संगम। इसके साथ अभी बीटा की जगह प्रिव्यू का टैग लगा है और लहर की साईज के लिये कहूँगा – थोड़ा है थोड़े की जरूरत है। अगला प्रश्न आता है चलेगा कि नही? इसमें संभावना तो काफी दिख रही है लेकिन फाईनल प्रोडक्ट किस तरह से आकार लेता है इसमें बहुत कुछ निर्भर करता है और उससे भी ज्यादा इस बात पर कि इसे इंडियन यूजर कितना अपनाते हैं।

अगर और वक्त मिला तो डिटेल में लहरों में सर्फिंग की जायेगी वरना……

[कुछ विशेष कारणों के चलते अगले २-३ महीनों तक ब्लोगिंग और इंटरनेट से दूरी बनी रहेगी। लेकिन उसके बाद फिर से आपके साथ नयी नयी जानकारियाँ शेयर करने का सिलसिला जारी रहेगा।]

Posted in Communication | Tagged | 6 Comments

जीमेल में फोल्डर कैसे बनायें और ईमेल कैसे ओर्गनाईज करें

तकनीकी रूप से जीमेल में फोल्डर क्रियेट नही कर सकते, गुगल ने इसकी जगह पर लेबल की फैसलिटी दी है लेकिन लेबल को फोल्डर की तरह से यूज करने का एक तरीका है।

सबसे पहले लेबल क्रियेट करें, चाहे तो दोस्त के नाम का, उसकी ईमेल उस लेबल/फोल्डर में भेजने के लिये या फिर किसी एक ग्रुप की ईमेल एक जगह कलेक्ट करने के लिये। जैसे मैंने याहू नाम से एक लेबल बनाया है। लेबल क्रियेट करने के लिये लेफ्ट साईड में दिये लेबल बॉक्स के नीचे दिये लिंक Edit Label पर क्लिक करें या फिर Settings–>Labels पर क्लिक करके पहुँचे।

लेबल बनाने के बाद आपको फिल्टर Filter क्रियेट करना है (अगर आप नही जानते कैसे? तो जानकारी के लिये इस पोस्ट को पढ़ें)। फिल्टर क्रियेट करने के लिये सबसे पहले पेज में ईमेल पता दीजिये या फिर सिर्फ डोमेन जैसे मैने दिया है। उसके बाद Next Step पर क्लिक करें, अगले पेज में आपको सिर्फ दो आप्शन चेक/सलेक्ट करने हैं – पहला Skip the Inbox (Archive it) और दूसरा Apply the Label, उसके बाद इसके आगे दिये ड्रापडाऊन बॉक्स में से उस लेबल को सलेक्ट कर लीजिये जहाँ फिल्टर कंडीशन को सेटिसफाई करने वाली ईमेल भेजनी है।
STEP 1.


STEP 2.

इस पेज में फिल्टर कंडीशन को सेटिसफाई करने वाली पुरानी मेल अगर होंगी तो उसकी संख्या देकर ये आप्शन होगा अगर आप इस फिल्टर को पुरानी ईमेल के लिये भी एप्लाई करना चाहते हैं। बस अब Create Filter के बटन पर क्लिक कर दीजिये, अगली बार से जो ईमेल आयेगी वो आपको ईनबॉक्स की जगह पर उस लेबल (या फोल्डर) के अंतर्गत दिखायी देगी।

याहू की ईमेल आर्गनाईज कैसे करें जानने के लिये इस पोस्ट को पढ़िये

Posted in Gmail, How to, tips-tricks | Tagged , , , | 14 Comments

याहू मेल के फोल्डरस में ईमेल कैसे ओर्गनाईज करें

मुझे आर. पी. चंदोला जी ने मेल करके पूछा – “मैंने अलग अलग दोस्तों के नाम से फोल्डर बनाये हुए हैं, मैं चाहता हूँ कि इनकी भेजी ईमेल इन्हीं के नाम वाले फोल्डर में चले जाये। ये कैसे करूँ?

चूँकि ये ईमेल याहू के एकाउंट से आयी थी, मैं इसलिये याहू में इसे कैसे कर सकते हैं बता रहा हूँ, गुगल के जीमेल में कैसे करेंगे ये यहाँ पढ़िये

तरीका बहुत आसान है, सबसे पहले तो दोस्तों के नाम के फोल्डर बना लें या ग्रुप के मसलन याहू के एकाउंट से आने वाले ईमेल एक फोल्डर में, जीमेल के एक में। फोल्डर बनाने के लिये My Folder के आगे दिये ADD के लिंक पर क्लिक करें।

फोल्डर बनाने के बाद Options में क्लिक करके Mail Option में क्लिक करें (ये टॉप राईट मिलेगा), जो नया पेज ओपन होगा उसमें बायें तरफ दिये लिंकस में से फिल्टर Filters के लिंक पर क्लिक करें। दाहिने तरफ हो सकता है आपको “ Pardon our appearance during construction…..” जैसा कुछ देखने को मिल जाये, उसके नीचे दिये गये लिंक Create or Edit Filter पर क्लिक करें। एक नयी विंडो ओपन होगी जिसमें आपको फिल्टरस की लिस्ट की डिटेल दिखेगी। यहाँ Add पर क्लिक करें। जो नया पेज दिखेगा उसमें फिल्टर का नाम लिखे (उदाहरण आपके दोस्त का नाम)। उसके बाद पहली कंडीशन में From Header – Contains के आगे दोस्त का ईमेल एड्रैस टाईप करें (या सिर्फ @yahoo.com, इससे इस डोमेन से आने वाली सारी ईमेल इस फिल्टर के द्वारा इसमें बताये फोल्डर में चली जायेगी)। Match Case सलेक्ट करने की जरूरत नही इसका मतलब होता है कि A और a अलग अलग माने जायेंगे। बाकि कंडीशन देने की भी जरूरत नही है। अगर ये देंगे तो ये AND की तरह काम करेगी।

उसके बाद THEN में दिये गये फोल्डर के ड्राप डाउन में से उस दोस्त के नाम का फोल्डर सलेक्ट कर लें जिसका ईमेल एड्रैस ऊपर लिखा है। बस फिर Add Filter पर क्लिक करके इसे सेव कर लें, अगली बार से इसके द्वारा भेजी ईमेल सीधे उसी के फोल्डर में जायेगी।

आप चाहें तो इस फिल्टर के अलग अलग कंबीनेशन ट्राई करके देख सकते हैं, इससे आयडिया भी हो जायेगा कि ये कैसे काम करता है। याहू में आप अधिकतम १०० फिल्टर ही क्रियेट कर सकते हैं।

गुगल के जीमेल में कैसे करेंगे ये यहाँ पढ़िये

Posted in Yahoo Mails | Tagged , , , | 10 Comments

मेरा पहला वर्डप्रेस प्लगईनः Indic Language Comment

अब आप मेरे ब्लोग में सीधे हिंदी में टाईप करके कमेंट कर सकते हैं और ये संभव हुआ है वर्डप्रेस प्लगिन से। ये वर्डप्रेस के लिये लिखा मेरा पहला प्लगिन है। अगर आप सैल्फ होस्टेड वर्डप्रेस उपयोग में लाते हैं और ये प्लगिन ट्राई करना चाहते हैं तो इसे यहाँ से डाऊनलोड कर सकते हैं

ज्यादा जानकारी के लिये इस प्लगिन का होम पेज यहाँ है। और इस प्लगिन का Live Demo आप नीचे कमेंट बॉक्स में टाईप करके देख सकते हैं।

Posted in Wordpress | Tagged , , , | 15 Comments