गुगल का पावरमीटर बतायेगा घर में बिजली कहाँ और कितनी खर्च होती है

गुगल ने स्मार्ट ग्रिड की दिशा में अपने कदम बड़ा लिये हैं और अब गेंद बिजली कंपनियों के पाले में है। जिन्हें नही मालूम उन्हें बता दूँ कि ये स्मार्ट ग्रिड कंप्यूटर की नही बल्कि बिजली के लिये है। दरअसल बात एक ऐसी स्मार्टर इलेक्ट्रीसिटी ग्रिड बनाने की हो रही है जिसका हुकअप कंप्यूटर तकनीक के साथ किया जा सके। अभी अमेरिका में फिलहाल सभी ग्रिड एनालॉग हैं और जिन्हें धीरे धीरे स्मार्ट ग्रिड में बदलने का प्लान है।

How much does it cost to leave your TV on all day? What about turning your air conditioning 1 degree cooler? Which uses more power every month — your fridge or your dishwasher? Is your household more or less energy efficient than similar homes in your neighborhood?

गुगल का मानना है कि उसका सोफ्टवेयर ये सब इनफोर्मेसन आपको देगा और फिर आप डिसाइड कर सकते हैं कहाँ क्या चेंज करना है।


कई बिजली कंपनियाँ धीरे धीरे स्मार्ट मीटर लगा रही हैं, अब आप लोग सोच रहे होंगे इसमें गुगल कहाँ से फिट बैठता है। दरअसल गुगल ने एक ऐसा सोफ्टवेयर बनाया है जो इन स्मार्ट मीटर से डॉटा लेकर आपके कंप्यूटर तक पहुँचायेगा। ये बतायेगा कि आपके घर में उपयोग में आने वाले किस प्रोडक्ट में कितनी बिजली खर्च हो रही है। इससे उन उपकरणों का पता आसानी से चल जायेगा जिनका बेहतर विकल्प उपलब्ध है और जिनको बदलने की जरूरत है। यही नही बिजली कंपनियाँ भी चाहती हैं कि उनके पास बिजली के उपयोग के लिये Variable Rate चार्ज करने का आप्शन हो। यानि कि डिमांड के हिसाब से रेट कम बाकी होंगे, ऐसे में गुगल का ये सोफ्टवेयर बता सकता है कि किस उपकरण को किस समय चलाने में कम खर्च आता है क्योंकि ये सब रियल टाईम होगा इसलिये तुरंत ये सब पता चल सकता है। जैसे डिशवाशर रात को चलाने में कम खर्चा आयेगा जब बिजली की डिमांड कम होने लगती है और इसलिये रेट भी कम होंगे।

गुगल का पावरमीटर (PowerMeter) स्मार्ट ग्रिड सोफ्टवेयर है जो उपभोक्ताओं को उनके घर में होने वाली बिजली की खपत की डिटेल जानकारी देगा। पावरमीटर एक मुफ्त में उपलब्ध होने वाल ओपन सोर्स सोप्टवेयर होगा, इस दिशा में और भी कई कंपनियाँ काम कर रही हैं।

फिलहाल तो गुगल अपने इस पावरमीटर की टेस्टिंग अपने कर्मचारियों के बीच कर रहा है, सिर्फ गुगल ही नही बल्कि आइबीएम भी इस दिशा में कार्यरत है।

IBM (IBM), which has become the leading player integrating smart grid technology for utilities and managing the data produced by a digital power grid।

फिलहाल तो ये प्रोटोटाईप प्रोजेक्ट है और बहुत जल्द हकीकत भी बन जायेगा तब तक ज्यादा जानकारी के लिये आप गुगल की पावर साईट पर देख सकते हैं।

वैसे तो पावर कंजम्पसन डिवाइस मार्केट में उपलब्ध हैं जिससे आप यही सब पता लगा सकते हो लेकिन उसे डिवाइस टू डिवाइस लगा के देखना होता है। जबकि गुगल पावरमीटर घर के सभी उपकरण के कंजम्पसन की डिजिटल इनोर्फेशन को हमारे डेस्कटॉप पर उपलब्ध करायेगा स्मार्ट ग्रिड की मदद से।

This entry was posted in Google, Science & Tech, in the news and tagged , , , , . Bookmark the permalink.

4 Responses to गुगल का पावरमीटर बतायेगा घर में बिजली कहाँ और कितनी खर्च होती है

  1. Ratan Singh says:

    बहुत बढ़िया जानकारी ! पॉवर मीटर सोफ्टवेयर का इंतजार रहेगा |

  2. दिलचस्प ख़बर है तरुण जी ..इसे मार्केट में आने में कितना वक़्त लगेगा ?

  3. मुझे तो यह अभी किसी काम कि नही लग रही है अभी तक तो नये डिजिटल मीटर जो जरा सी धूप सहन नही कर पाते उनको ही सरकार नही बदली कर पा रही है । भविष्य मे तो भगवान ही मालिक है

  4. ऐसे मीटर का असली परीक्षण तो लगने के बाद ही होगा। क्‍योंकि पहले ही मीटर सरकार उपलब्‍ध नहीं करवा पा रही है। हमारे घर में 6 माह से मीटर खराब है। एप्‍लीकेशन दे रखी है लेकिन आज तक बदल नहीं पाया।